Agricultural in India

( भारत में कृषि )

भारत में विविध प्रकार की फसलें विविध ऋतुओं में उत्पादित होती है। यहां मुख्यतया 3 फसली ऋतुएं मिलती हैं

  1. खरीफ की फ़सल ( Kharif crop ) 
  2. रबी की फ़सल ( Rabi crop )
  3. जायद की फ़सल ( Zayed crop )

रबी की फ़सल ( Rabi crop ) –

शीत ऋतु की फसलें रबी कहलाती है। इन फसलों की बुआई के समय कम तापमान तथा पकते समय खुश्क और गर्म वातावरण की आवश्यकता होती है। ये फसलें सामान्यतः अक्तूबर-नवम्बर के महिनों में बोई जाती हैं।

  • रबी फ़सल का पौधा लगाने का समय – अक्टूबर से दिसम्बर।
  • रबी फसल की कटाई का समय – फरवरी से अप्रैल।
  • रबी की प्रमुख फसलें – गेहूं, जौ, जई, मटर, चना, सरसों, बरसीम, आलू, मसूर, लुसर्न, आदि।

खरीफ की फ़सल ( Kharif crop ) 

वर्षा ऋतु की फसलें खरीफ कहलाती हैं। इन फसलों को बोते समय अधिक तापमान एवं आर्द्रता तथा पकते समय शुष्क वातावरण की आवश्यकता होती है। उत्तर भारत में इनको जून-जुलाई में बोते हैं और इन्हें अक्टूबर के आसपास काटा जाता है।??

  • ख़रीफ़ फ़सल का पौधा लगाने का समय- मई से जुलाई
  • खरीफ फसल की कटाई का समय- सितम्बर से अक्टूबर
  • खरीफ की प्रमुख फसलें: ज्वार, बाजरा, धान, मक्का, मूंग, सोयाबीन, लोबिया, मूंगफली, कपास, जूट, गन्ना, तम्बाकू, आदि।

जायद की फ़सल ( Zayed crop )

खरीफ और रबी की फसलों के बाद संपूर्ण वर्ष में कृत्रिम सिंचाई के माध्यम से कुछ क्षेत्रें में जायद की फसल उगाई जाती है। इस वर्ग की फसलों में तेज गर्मी और शुष्क हवाएँ सहन करने की अच्छी क्षमता होती हैं। उत्तर भारत में ये फसलें मूख्यतः मार्च-अप्रैल में बोई जाती हैं।

  • बीज लगाने का समयः फरवरी से मार्च
  • फसलों की कटाई का समयः अप्रैल से मई
  • प्रमुख फसलें: खरबूजा, तरबूज, ककड़ी, मूंग, लोबीया, पत्तेदार सब्जियां, आदि।

कृषि के प्रकार ( Types of agriculture )

मिश्रित कृषि ( Mixed Farming ) –  कृषि एवं पशुपालन कार्य एक साथ करना।

शुष्क या बारानी कृषि ( Dry Farming ) –  शुष्क क्षेत्रों में वर्षा जल का सुनियोजित संरक्षण व उपयोग कर कम पानी की आवश्यकता वाली वह शीघ्र पकने वाली फसलों की कृषि करना।

झूमिंग कृषि ( Shifting Cultivation ) – पहाड़ी व वन क्षेत्र में वन एवं पेड़ पौधों को जलाकर जमीन को साफ करना तथा उस पर 2- 3 वर्ष खेती करने के पश्चात उसे छोड़कर किसी अन्य स्थान पर इसी तरह कृषि कार्य करना ।आदिवासी क्षेत्र में से “वालरा कृषि” कहते हैं।

समोच्च कृषि (Contour Farming )- पहाड़ी क्षेत्रों में समस्त कृषि कार्य और फसलों की बुवाई ढाल के विपरीत करना ताकि वर्षा से होने वाली मृदा क्षरण को न्यूनतम किया जा सके ।

पट्टीदार कृषि ( Strip Farming ) – ढालू भूमि में मृदा क्षरण को कम करने वाली( मूंग, उड़द, घास आदी) तथा अन्य फसलों को एक के बाद एक पट्टियों में ढाल के विपरीत इस प्रकार बोना कि मृदा क्षरण को न्यूनतम किया जा सके।

कृषि वानिकी( Agro Forestry ) – कृषि के साथ-साथ फसल चक्र में पेड़ों, बागवानी व झाड़ियों की खेती कर फसल व चारा उत्पादन करना।

रोपण कृषि ( Plantation Farming ):- एक विशेष प्रकार की खेती जिसमें रबड़ ,चाय, कहवा आदि बड़े पैमाने पर ( मुख्यतः निर्यात हेतु ) उगाये जाते है।

रिले क्रॉपिंग ( Relay Cropping ) – एक वर्ष में एक ही खेत में चार फसलें लेना।

भारतीय कृषि की विशेषताएँ ( Characteristics of Indian Agriculture )

  1. भारतीय कृषि का अधिकांश भाग सिचाई के लिए मानसून पर निर्भर करता है
  2. भारतीय कृषि की महत्त्वपूर्ण विशेषता जोत इकाइयों की अधिकता एवं उनके आकार का कम होना है
  3. भारतीय कृषि में जोत के अन्तर्गत कुल क्षेत्रफल खण्डों में विभक्त है तथा सभी खण्ड दूरी पर स्थित हैं।
  4. भूमि पर प्रत्यक्ष एवं परोक्ष रूप से जनसंख्या का अधिक भार है।
  5. कृषि उत्पादन मुख्यतया प्रकृति पर निर्भर रहता है
  6. भारतीय कृषक ग़रीबी के कारण खेती में पूँजी निवेश कम करता है।
  7. खाद्यान्न उत्पादन को प्राथमिकता दी जाती है।कृषि जीविकोपार्जन की साधन मानी जाती है। 
  8. भारतीय कृषि में अधिकांश कृषि कार्य पशुओं पर निर्भर करता है।

भारतीय कृषि महत्वपूर्ण बिंदु ( Indian agricultural key point )

  1. कृषि भारत का प्राचीन व्यवसाय है जिसका अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण स्थान है 54. 6% जनसंख्या प्रत्यक्ष तौर पर निर्भर है
  2. भारतीय कृषि की मानसून पर निर्भरता के कारण भारतीय कृषि को मानसून का जुआ कहते हैं
  3. भारतीय कृषि की विशेषताएं; जनसंख्या की कृषि पर निर्भरता ,कृषि की मानसून पर निर्भरता ,सिंचाई सुविधाओं का अभाव ,प्रति हेक्टेयर कम उत्पादन ,चारा फसलों की कमी, कृषि जोतों का छोटा आकार, खाद्यान्नों की प्रधानता फसलों की विविधता दी,
  4. कृषि कृषि उत्पादन कम होने के कारण; कृषि पर मौसम की मार, किसान का भाग्यवादी दृष्टिकोण, कृषि को व्यवसाय के स्थान पर जीवन यापन प्रणाली के रूप में अपनाना, खाद का दुरुपयोग, सिंचाई साधनों का सीमित विकास, उत्तम बीज साधारण किसान की पहुंच से दूर, कृषि रोग, पशुओं की हिना अवस्था, मिट्टी की उर्वरा शक्ति में कमी, कृषि जात का निरंतर छोटा होना आदि!
  5. भारतीय कृषि के प्रकार- निर्वहन व्यापारिक कृषि, आद्र शुष्क कृषि, गहन व विस्तरण कृषि, उद्यान कृषि, जैविक कृषि!
  6. भारतीय कृषि को उपयोग के आधार पर खाद्यान्न , पेय पदार्थ ,व्यवसायिक और नगरों रेशेदार फसलों ,में विभाजित किया जाता है!
  7. जैविक कृषि; जैविक कृषि का आरंभ सभ्यता के आरंभ से ही रहा है सिक्किम देश का पहला पूर्ण जैविक खेती वाला राज्य है!
  8. गेहूं दूसरा प्रमुख खाद्यान्न भारत में विश्व उत्पादन का 11. 7% हरित क्रांति के कारण उत्पादन में अत्यधिक वृद्धि 2014 15 में प्रति हेक्टेयर उत्पादन 2872 किग्रा प्रमुख उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश पंजाब हरियाणा मध्य प्रदेश राजस्थान बिहार आदि!
  9. चावल प्रमुख खाद्य फसल मूल स्थान भारत विश्व का लगभग 19% उत्पादन देश के कुल उत्पादन का 97% भाग आंध्र प्रदेश असम बिहार महाराष्ट्र मध्य प्रदेश तमिलनाडु ओडिशा पंजाब उत्तर प्रदेश केरल पश्चिमी बंगाल राज्यों से होता है!
  10. कपास भारत का कपास का भी जन्म स्थान है देश की महत्वपूर्ण व्यापारिक एवं रेशेदार फसल प्रति हेक्टेयर उत्पादन 510 किग्रा उत्पादन की दृष्टि से गुजरात में प्रति हेक्टेयर उत्पादन की दृष्टि से पंजाब प्रथम राज्य है!
  11. गन्ना जन्म स्थान भारत सर्वाधिक प्रति हेक्टेयर उत्पादन पश्चिमी बंगाल में सबसे कम प्रति हेक्टेयर उत्पादन जम्मू-कश्मीर उत्तर प्रदेश क्षेत्रफल एवं उत्पादन की दृष्टि से प्रथम राज्य!
  12. चाय भारत की प्रमुख मुद्रा दायिनी फसल विश्व का सबसे बड़ा उत्पादक और उपभोक्ता निर्यात की दृष्टि से दूसरा स्थान असम पश्चिमी बंगाल तमिलनाडु केरल प्रमुख उत्पादक राज्य हैं!
  13. ट्रक फार्मिंग उद्यान कृषि का ही एक प्रकार महानगरों के लिए फलों व सब्जियों का उत्पादन कर ट्रकों व प्रशीतन युक्त गाड़ियों से पंचायत जाता है क्योंकि राष्ट्र अमेरिका के कैलिफोर्निया से प्रारंभ सब्जियों के उत्पादन में पश्चिमी बंगाल फलों के उत्पादन में महाराष्ट्र देश में अपना प्रथम स्थान रखते हैं!

महत्वपूर्ण

भारत में 1798 में अंग्रेजों द्वारा लाया गया था भारत में कॉफी के कुल उत्पादन का 56. 5% केवल कर्नाटक राज्य में होता है भारत में मंगलोर कहवा का एवं कोलकाता चाय का सबसे बड़ा निर्यातक बंदरगाह है

भारत विश्व में फलों एवं सब्जियों का दूसरा और चीन सर्वाधिक उत्पादक देश है काजू, आम, केला, चीकू, नींबू , नारियल, काली मिर्च,  अदरक एवं हल्दी उत्पादन में भारत का विश्व में प्रथम एवं प्याज, बंद गोभी, टमाटर, बैंगन के उत्पादन में दूसरा स्थान है

देश में गेहूं का सर्वाधिक उत्पादन करने वाला राज्य उत्तर प्रदेश है जबकि प्रति हेक्टर गेहूं के उत्पादन में पंजाब का प्रथम स्थान है विश्व के गेहूं उत्पादन में भी चीन का प्रथम व भारत का दूसरा स्थान है

भारत में हरित क्रांति की शुरुआत 1966- 67 ईसवी में हुई,  द्वितीय हरित क्रांति की शुरुआत 1983- 84 ईस्वी में हुई विश्व की हरित क्रांति के जनक प्रो. नॉर्मन अर्नेस्ट बोर लाग माने जाते हैं भारतीय वैज्ञानिक डॉक्टर एम एस स्वामीनाथन को हरित क्रांति का पितामह कहा जाता है

कृषि और पशु संसाधन क्षेत्र की प्रमुख क्रांतियां ( Major Revolution in Agriculture and Animal Resources Sector )

1. हरित क्रांति ( Green revolution )

  • भारत में 1960 में एम एस स्वामीनाथन एवं बोरलॉग के प्रयासों से हरित क्रांति का सूत्रपात हुआ
  • खाद्यान्न उत्पादन में क्रांतिकारी वृद्धि लाने पर ध्यान केंद्रित किया गया।
  • कृषि को उन्नत बनाने की दिशा में यह एक बेहतर प्रयास था
  • इस क्रांति के फलस्वरुप सर्वाधिक वृद्धि गेहूं की पैदावार में हुई।
  • पंजाब हरियाणा उत्तर प्रदेश और राजस्थान में इस क्रांति क्या विशेष प्रभाव दिखा।

2. श्वेत क्रांति ( White revolution )

  • दुग्ध क्रांति के नाम से भी जाना जाता है।
  • इस क्रांति के तहत देश में दुग्ध उत्पादन की वृद्धि पर ध्यान केंद्रित किया जाए।
  • श्वेत क्रांति का सूत्रपात वर्ष 1970 में गुजरात के आनंद जिले से हुआ जिसका जनक डॉक्टर वर्गीज कुरियन को माना जाता है।
  • श्वेत क्रांति के फलस्वरुप ही भारत को विश्व का सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक राष्ट्र बनने का गौरव प्राप्त हुआ

3. नीली क्रांति ( Blue revolution )

  • देश में मछली उत्पादन को बढ़ाने व प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से सातवीं पंचवर्षीय योजना के तहत विशेष प्रयास किए गए जिसमें नीली क्रांति नाम दिया गया।
  • मत्स्य पालन के क्षेत्र में मशीनी व तकनीकी विकास पर विशेष ध्यान दिया गया
  • मत्स्य कृषि को प्रोत्साहित करते हुए सहकारिता और विपणन की सुविधा मुहैया कराई गई
  • इस क्रांति के परिणाम स्वरुप भारत को तीसरा सबसे बड़ा मछली उत्पादक राष्ट्र बनने का गौरव प्राप्त हुआ

4. बादामी क्रांति ( Badami Revolution )

  • मसाला का उत्पादन व निर्यात बढ़ाने पर विशेष ध्यान दिया गया

5. पीली क्रांति ( Yellow Revolution )

  • इस क्रांति के तहत तिलहन उत्पादन को प्रोत्साहित किया गया

6. भूरी क्रांति ( Brown revolution )

  • परंपरागत ऊर्जा का उत्पादन बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित किया गया

7. गुलाबी क्रांति ( Pink Revolution )

  • क्रांति झींगा उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई थी

8.  रजत क्रांति 

मुर्गी पालन/अंडा उत्पादन को प्रोत्साहित किया गया

9. गोल क्रांति 

  • आलू उत्पादन में वृद्धि पर ध्यान केंद्रित किया गया

भारत में कृषि संस्थान ( Agricultural institute in india )

  1. राष्ट्रीय वनस्पति शोध संस्थान➖लखनऊ
  2. भारत वानस्पतिक सर्वेक्षण संस्थान➖कोलकाता
  3. भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद➖ नई दिल्ली
  4. भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान➖नई दिल्ली
  5. कपास अनुसंधान संस्थान➖ मुंबई
  6. जूट कृषि अनुसंधान संस्थान➖ बैरकपुर
  7. रेशम अनुसंधान संस्थान➖मैसूर
  8. राष्ट्रीय पादप जैव प्रौद्यौगिकी अनुसंधान केन्द्र, नई दिल्ली
  9. राष्ट्रीय समन्वित कीट प्रबन्धन केन्द्र, नई दिल्ली
  10. राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केन्द्र, मुजफ्फरपुर
  11. राष्ट्रीय नीबू वर्गीय अनुसंधान केन्द्र, नागपुर
  12. राष्ट्रीय अंगूर अनुसंधान केन्द्र, पुणे
  13. राष्ट्रीय केला अनुसंधान केन्द्र, त्रिची
  14. राष्ट्रीय बीज मसाला अनुसंधान केन्द्र, अजमेर
  15. रष्ट्रीय अनार अनुसंधान केन्द्र, शोलापुर
  16. राष्ट्रीय आर्किड अनुसंधान केन्द्र, पेकयांग, सिक्किम
  17. राष्ट्रीय कृषि वानिकी अनुसंधान केन्द्र,झांसी
  18. राष्ट्रीय ऊंट अनुसंधान केन्द्र, बीकानेर
  19. राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केन्द्र, हिसार
  20. राष्ट्रीय मांस अनुसंधान केन्द्र, हैदराबाद
  21. राष्ट्रीय शूकर अनुसंधान केन्द्र, गुवाहाटी
  22. राष्ट्रीय याक अनुसंधान केन्द्र, वेस्ट केमंग
  23. राष्ट्रीय मिथुन अनुसंधान केन्द्र, मेदजीफेमा, नगालैंड
  24. राष्ट्रीय कृषि अर्थशास्त्र और नीति अनुसंधान केन्द्र, नई दिल्ली राष्ट्रीय ब्यूरो

भारतीय कृषि मानसून आधारित कृषि है। भारत में राष्ट्रीय किसान आयोग का गठन जनवरी 2004

अगर भारत की वैश्विक स्तर पर तुलना करें तो भारत अभी भी पिछड़ा हुआ माना जाता है। इसके कई कारण है मुख्यतया प्रमुख कारण-

  • 1⃣ उन्नत बीजों का अभाव
  • 2⃣ मानसून की अनिश्चितता
  • 3⃣ आधुनिक तकनीकों और तरीकों के प्रति अज्ञानता
  • 4⃣ छोटे आकार की खेतों की अधिकता

भारत में विश्व की कुल कृषि का लगभग 12% क्षेत्र पाया जाता है।

Indian Agriculture important facts and Quiz 

  1. आम की बीज रहित प्रजाति है – सिंधु
  2. राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना प्रारंभ हुआ- 1999-2000 ई0
  3. सीमांत किसान कहलाता है, जिसके पास जोत भूमि होती है- एक हेक्टेयर से कम
  4. राष्ट्रीय बागवानी मिशन प्रारंभ हुआ- मई 2005
  5. फसल लोगिंग विधि है- फसलोत्पादन के लिए पोषक तत्वों की आवश्यक जानकारी के लिए पौध विश्लेषण
  6. एंटीसोल है- नवीन जलोढ मिट्टी
  7. गेहूँ सिंचाई के लिए अतिक्रांतिक अवस्था है- ताज निकलने पर
  8. चाय बगानों के लिए सर्वाधिक उपयुक्त मिट्टी है- अम्लीय
  9. कृषि क्षेत्र को दीर्घकालीन ऋण देता है- भूमि विकास बैंक
  10. देश में एग्रो इकोलाॅजिकल जोन है– 20
  11. किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) शुरू किया गया- 1998-99
  12. कृषि औज़ारों तथा मशीनों पर शोध तथा विकास कार्य के लिए सेंट्रल इंस्टीटयूट आफ इंजिनियरिंग स्थित है- भोपाल
  13. महाधान (Super Rice) का विकास किया- जी.एम. खुश ने
  14. विश्व में सब्जी उत्पादन में भारत का स्थान है– द्वितीय
  15. नील हरित शैवाल, एजोला, एल्फा-एल्फा आदि जैव-उर्वरक किस फसल के लिए सर्वाधिक उपयोगी है- धान
  16. NAFED का संबंध है- कृषि विपणन
  17. मृदा में सर्वाधिक अम्ल छोड़ने वाला उर्वरक है- अमोनियम सल्फेट
  18. अंग्रेजों द्वारा सर्वप्रथम कहवा बागान लगाया गया – चिकमंगलूर (कर्नाटक ) में
  19. तंबाकू कृषि के तहत वृहत्तम क्षेत्र स्थित है- आंध्रप्रदेश में
  20. कृषि तथा संबंधित क्षेत्र को सर्वाधिक ऋण प्रदान करता है- वाणिज्यिक बैंक
  21. हरित क्रांति से सर्वाधिक प्रभावित राज्य है- उत्तरप्रदेश, पंजाब, हरियाणा
  22. मक्के की खेती की जाती है- वर्ष भर
  23. राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (NABARD) की स्थापना हुई- 12 जुलाई 1982
  24. मूँगफली का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है- गुजरात
  25. राष्ट्रीय किसान आयोग का गठन किया गया- जनवरी 2004
  26. धान का खैरा रोग किस तत्व की कमी से होता है- जस्ता
  27. आम्रपाली किन दो आम के प्रजातियों का संकरण है- दशहरी × नीलम
  28. एलोवैन मोजैक बीमारी है-  भिंडी की
  29. पितांबरी प्रजाति है– सरसों की
  30. पपीते के पीला रंग का कारण है – कैरिकाजैंथिन

 

Quiz 

Question -35 

0%

प्रश्न=1.मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री द्वारा कहाँ व कब किया गया-?

Correct! Wrong!

व्याख्या:-इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने "ड्राप मोर क्रॉप" का नारा दिया।साथ ही कृषि कर्मण पुरस्कार भी वितरित किये।

प्रश्न=2.मुख्यतः किन फसलों में उर्वरक का उपयोग अधिक होता है-? 1.चावल 2.गेहूं 3.बाजरा 4.मक्का निम्न में कौनसा कूट सत्य है-?

Correct! Wrong!

-उर्वरक के कुल उपभोग का आधे से अधिक भाग केवल दो फसलों-चावल व गेहूं में होता है।

प्रश्न=3.मोटे अनाजों के उत्पादन में देश में प्रथम स्थान पर कौनसा राज्य है-?

Correct! Wrong!

-योजनाकाल में यद्दपि मोटे अनाजों के अधीन बोये गये क्षेत्र में कमी हुई है,लेकिन मोटे अनाजों के उत्पादन में देश में राजस्थान प्रथम स्थान पर है।इसके बाद कर्नाटक व महाराष्ट्र का स्थान है।

प्रश्न=4.उर्वरक क्षेत्र में भारत का सबसे बड़ा केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम कौनसा है-?

Correct! Wrong!

-NFL के पाँच गैस आधारित यूरिया संयंत्र-नांगल व भटिंडा(पंजाब),पा(द)फैक्टपत(हरियाणा) तथा मध्यप्रदेश के विजयपुर में दो संयंत्र है।

प्रश्न=5.निम्न में से नकदी फसल नहीं है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=6.राष्ट्रीय बागवानी सुरक्षा मिशन की शुरुआत कब हुई-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=7.ईसबगोल की भूसी किससे प्राप्त होती है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=8."Delight of Diabetic" किसे कहा जाता है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=9.भारत के सर्वाधिक क्षेत्र में बोई जाने वाली फसल है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=10.निम्न में से कौनसा युग्म असंगत है-?

Correct! Wrong!

-एक ही बार में एक फसल की कृषि Monoculture कहलाती है।एक ही स्थान पर एक साथ एक से अधिक फसलों की खेती Polyculture कहलाती है।

प्रश्न 11.भारतीय कृषि "मानसून का जुआ है।" यह कथन किसका है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न 12.नाबार्ड(NABARD) की स्थापना कब हुई थी-?

Correct! Wrong!

प्रश्न 13.भारत में नाबार्ड(1982 में स्थापित) की स्थापना किस समिति की संस्तुति के आधार पर की गई-?

Correct! Wrong!

प्रश्न 14.राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन भारतीय संघ(NAFED)की स्थापना कब हुई थी-?

Correct! Wrong!

प्रश्न 15.राष्ट्रीय सोयाबीन अनुसंधान केंद्र स्थित है-?

Correct! Wrong!

16. भारत में से निम्न में कौन वाणिज्यिक फसल है?

Correct! Wrong!

17. कौन सा भारतीय राज्य दालों का सबसे बड़ा उत्पादक है?

Correct! Wrong!

18. भारत में चावल उत्पादक राज्यों में प्रथम स्थान किसका है?

Correct! Wrong!

19. भारत का सबसे बड़ा खाद्यान्न उत्पादक राज्य कौन सा है?

Correct! Wrong!

20. निम्नलिखित में से कौन सही सुमेलित नहीं है?

Correct! Wrong!

21. निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही नहीं है

Correct! Wrong!

22. भारत में कौन सी एजेंसी खाद्यान्न उत्पादन की खरीद, वितरण और भंडारण के लिए जिम्मेदार है?

Correct! Wrong!

23 . गन्ने के उचित एवं लाभकारी मूल्य (एफआरपी) को कौन मंजूरी देता है?

Correct! Wrong!

24. भारत में कृषि उत्पादों को बाजार में कौन नियंत्रित करता है?

Correct! Wrong!

25. निम्न में से कौन सा कथन सही नहीं है?

Correct! Wrong!

Q.26. इनमे से कोनसी एक फलीदार फसल है ?

Please select 2 correct answers

Correct! Wrong!

Q.27. सुनहरा रेशा से अभिप्राय है ?

Correct! Wrong!

Q.28. सरकार निम्न में से कोनसी घोषणा फसलो को सहायता देने के किये करती है ?

Correct! Wrong!

Q.29. निम्न में से किसे चमत्कारिक फसल कहते है ?

Correct! Wrong!

Q.30. किस भारतीय राज्य को मसालो के बगीचे के उपनाम से जाना जाता है ?

Correct! Wrong!

Q.31. शस्य गहनता की दृष्टि से भारत का सबसे समृद्ध राज्य कोनसा है ?

Correct! Wrong!

Q.32. निम्न में से किस फसल को प्रति हेक्टर अधिक जल की आवश्यकता होती है ?

Correct! Wrong!

Q.33. निम्न में से कोनसा उस कृषि प्रणाली को दर्शाता है जिसमें एक ही फसल लंबे चौड़े छेत्र में उगाई जाती है ?

Correct! Wrong!

Q.34. निम्न में से किस फसल का अंतराष्ट्रीय व्यापार उसके सकल उत्पाद के संदर्भ में अल्प है ?

Correct! Wrong!

Q.35. विगत एक दशक में भारत मे किस एक निम्नलिखित फसल के लिए प्रयुक्त कुल कृष्य भूमि एक जैसी बनी है ?

Correct! Wrong!

Indian Agriculture Quiz 2 ( भारत में कृषि )
बहुत खराब ! आपके कुछ जवाब सही हैं! कड़ी मेहनत की ज़रूरत है
खराब ! आप कुछ जवाब सही हैं! कड़ी मेहनत की ज़रूरत है
अच्छा ! आपने अच्छी कोशिश की लेकिन कुछ गलत हो गया ! अधिक तैयारी की जरूरत है
बहुत अच्छा ! आपने अच्छी कोशिश की लेकिन कुछ गलत हो गया! तैयारी की जरूरत है
शानदार ! आपका प्रश्नोत्तरी सही है! ऐसे ही आगे भी करते रहे

Share your Results:

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

P K Nagauri, छिंदरपाल कौर श्रीगंगानगर, रमेश डामोर सिरोही, चंद्र गुप्त जयपुर, संदीप भाटी, श्री गंगानगर