मानव शरीर की प्रकृति एक अद्भुत एवं जटिल संरचना है। जो विभिन्न संरचनात्मक इकाइयों के परस्पर समन्वय से संचालित होता है। शरीर के संगठन की शुरुआत परमाणु अणुओ तथा योगीको से होती है तथा कोशिकाएं ,उत्तक ,अंग एवं जटिल तंत्र मिलकर परस्पर सामंजस्य से मानव शरीर का सृजन करते हैं।

कोशिका शरीर की मूलभूत संरचनात्मक तथा क्रियात्मक इकाई है विभिन्न कार्यों हेतु विभिन्न कोशिकाएं कार्य करती हैं समान कार्य करने वाली कोशिकाएं मिलकर उत्तकों का निर्माण करती हैं जैसे: पेशी, अस्थि आदि। दो या अधिक तरह के ऊतक मिलकर किसी कार्य के संपादन हेतु विशेष क्रिया करते हैं। उतकों का यह युग्मज संग्रह ही एक अंग जैसे अमाशय यकृत आदि का निर्माण करते हैं ।

शरीर के विभिन्न अंग एक साथ समूहित होकर किसी एक विशिष्ट क्रिया का संपादन करते हैं तथा एक संस्थान या तंत्र का निर्माण करते हैं उदाहरण के तौर पर पाचन तंत्र, श्वसन तंत्र आदि। यह सभी तंत्र मिलकर सम्मिलित रूप से मानव शरीर की रचना करते हैं।

विभिन्न तंत्र ( Various System )

  • पाचन तंत्र ( Digestive System )
  • श्वसन तंत्र  ( Respiratory system )
  • रक्त परिसंचरण तंत्र ( Blood circulation system )
  • उत्सर्जन तंत्र ( Emission system )
  • जनन तंत्र ( Germic system )
  • तंत्रिका तंत्र ( Nervous system )
  • अंतः स्रावी तंत्र ( Endocrine system )

Digestive System ( पाचन तंत्र )

प्रमुख पाचक एंजाइम ( Digestive enzyme )

टायलिन लार में पाया जाने वाला एंजाइम जो स्टार्च को माल्टोज में बदलता ह ।

आमाशय में पाए जाने वाले एंजाइम पेप्सिन – जो प्रोटीन को पहले प्रोटीओजेज तथा फिर पेप्टोन में बदलता है । 2 रेनिन – दूध में घुलनशील प्रोटीन केसीन को कैल्शियम पैराकेसिनेट में बदलकर दूध को दही में बदलता है । 3 म्यूसिन -जठर रस के अमलीय प्रभाव को कम करता हैं तथा भोजन को चिकना बनाने का काम करता हैं। श्लेष्मा झिली पर एक रक्षात्मक आवरण बनाता है जिससे पाचक एंजाइम का प्रभाव आहारनाल पर नहीं पड़ता हैं।

अग्नाशय से स्रावित होने वाले एंजाइम –  ट्रिप्सिन प्रोटीन एवं पेप्टोन को पॉलीपेप्टाइड एवं अमीनो अम्ल में परिवर्तित करता है। एमाइलेज स्टार्च को घुलनशील शर्करा में बदलता है । लायपेज एमलसीकृत वसाओं को गिलसरीन तथा फैटी एसिड में बदलता है।

भोजन का पाचन ( Digestion of food )

भोजन के बाद पाचन की क्रिया कई यांत्रिक एवं रासायनिक प्रक्रिया द्वारा संपन्न होती है ।आहार नाल के भीतर विभिन्न अंगों एवं ग्रंथियों से स्रावित एंजाइम भोजन की पोषक तत्वों का जल अपघटन कर सरलीकृत करते हैं ये एंजाइम सामान्यत: हाइड्रोलेसेज वर्ग के हैं ।पाचन में कार्य करने वाले प्रमुख एंजाइम निम्न है

  • कार्बोहाइड्रेट पाचक:- एमिलेज, माल्टेज, सुक्रेज आदि।
  • प्रोटीन पाचक :- ट्रिप्सिन , काइमो,ट्रिप्सिन पेप्सिन आदि।
  • वसा पाचक:- लाइपेज।
  • न्यूक्लिएजेज:- न्यूक्लियोटाइटेज, न्यूक्लिएजेज।

 

Quiz 

Question – 20 

[wp_quiz id=”5003″]

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

जयराम नागौर, रमेश डामोर, निर्मला कुमारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *