Indian Monsoon ( भारतीय मानसून )

मौसम वायुमंडल की क्षणिक अवस्था है अथार्त मौसम एक विशेष समय में एक क्षेत्र के वायुमंडल की अवस्था को बताता है| मौसम जल्दी-जल्दी बदलता है, जैसे 1 दिन में या 1 सप्ताह में या 1 महीने अथवा 1 वर्ष में| मानसून शब्द की व्युत्पत्ति अरबी शब्द “मौसिम” से हुई है; जिसका शाब्दिक अर्थ है–मौसम|

मानसून का अर्थ, एक वर्ष के दौरान वायु की दिशा में ऋतु के अनुसार परिवर्तन हैं| मानसून का पता सर्वप्रथम प्रथम सदी ईस्वी में हिप्पोलस ने लगाया था| भारत की जलवायु को मानसूनी जलवायु कहा जाता है|

 संपूर्ण रूप से राजस्थान की जलवायु “भारत की मानसूनी जलवायु” का अभिन्न अंग है किंतु प्राकृतिक कारकों के प्रभाव के कारण राज्य का अधिकांश क्षेत्र शुष्क जलवायु वाला है|

भारत की जलवायु मानसूनी जलवायु कहलाती है। किंतु ध्यान देने योग्य बात है कि भारत का उत्तरी भाग जो कर्क रेखा के उत्तर में स्थित है शीतोष्ण कटिबंध में व कर्क रेखा के दक्षिण में स्थित भाग उष्णकटिबंध के अंतर्गत आता है

भारतीय मानसून का संबंध मुख्यतया ग्रीष्म ऋतु में होने वाली वायुमंडलीय परिसंचरण में परिवर्तन से है ग्रीष्म ऋतु के आरंभ होने से सूर्य का उत्तरायण होना आरंभ होता है सूर्य के उत्तरायण के साथ साथ अंतः उष्णकटिबंधीय अभिसरण क्षेत्र का भी उत्तरायण होना प्रारंभ हो जाता है इसके प्रभाव से पश्चिमी जेट स्ट्रीम हिमालय के उत्तर में प्रवाहित होने लगती है अतः भारतीय उपमहाद्वीप में तापमान की अधिकता से निम्न वायुदाब का विकास होता है

पश्चिमी जेट स्ट्रीम के हिमालय के उत्तर में विस्थापन के पश्चात भारत में पूर्वी जेट प्रवाह का विकास होता है इसकी स्थिति लगभग 15 डिग्री से 30 डिग्री उत्तरी अक्षांश ऋतु के अनुसार बदलती है इसे ही भारतीय मानसून प्रस्फोट के लिए प्रमुख रूप से उत्तरदाई माना जाता है

पूर्वी जेट प्रवाह है कि प्रभाव से दक्षिण में हिंद महासागर में मेडागास्कर द्वीप के समीप उच्च वायुदाब का विकास होता है इसी उच्च वायुदाब के केंद्र से दक्षिण पश्चिम मानसून की उत्पत्ति होती है

♦ उष्ण एवं उपोष्ण ♦

  • कर्क रेखा भारत के 8 राज्यों से गुजरती है।
  • कर्क रेखा के सर्वाधिक नजदीक स्थित राज्य➖गुजरात
  • कर्क रेखा भारत को दो जलवायु भागों में बांटती है।
  • भारत में चारों जलवायु मिलती है।
  • मानसून की अनिश्चित के कारण भारतीय कृषि को मानसून का जुआ कहते हैं।
  • भारत में औसत वर्षा➖125 सेमी
  • सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान➖मासिनराम (खाशी पहाड़ी, मेघालय)
  • यह संसार का सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान है।
  • भारत का दूसरा सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान➖चेरापूंजी
  • सबसे कम वर्षा वाला स्थान➖ लेह (लद्दाख 5 सेंटीमीटर)
  • मोहनगढ़➖ जैसलमेर (12 सेंटीमीटर)

भारत में मानसून का आगमन

  • भारत में होने वाली मानसूनी वर्षा मौसमी वर्षा होती है जो जून से सितंबर के दौरान होती है
  • जून के प्रथम सप्ताह में मानसूनी हवाएं केरल कर्नाटक गोवा व महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों तक पहुंच जाती हैं
  • सर्वप्रथम मानसूनी हवाएं केरल के तट से टकराती हैं जिसे मानसून पासपोर्ट की संज्ञा दी जाती है
  • भारत में होने वाली वर्षा मुख्य रूप से भू-आकृतियों द्वारा नियंत्रित होती है

भारतीय मानसून की उत्पत्ति संबंधी सिद्धांत

  • तापीय सिद्धांत अथवा चिरसम्मत विचारधारा
  • इस सिद्धांत को एडमंड हैली ने एशियाई मानसून की उत्पत्ति की व्याख्या हेतु प्रतिपादित किया था
  • इस सिद्धांत के अनुसार मानसून महाद्वीपों एवं महासागरों के उषण में अंतर के कारण इनमें उत्पन्न तापीय विरोधाभास का परिणाम है
  • ग्रीष्म काल में सूर्य की किरणें कर्क रेखा पर लंबवत पड़ती हैं जिसके कारण यहां निम्न वायुदाब केंद्र का विकास हो जाता है तथा तापीय विषुवत रेखा का उत्तर की ओर खिसकाव हो जाता है इसके कारण दक्षिण पूर्वी व्यापारिक पवनें निम्न वायुदाब की ओर बहने लगती हैं
  •  जब यह हवाएं भूमध्य रेखा को पार करती हैं तो कोरियोलिस बल के प्रभाव से यह अपने दाहिनी ओर मुड़ जाती हैं जहां इनकी दिशा दक्षिण-पश्चिम हो जाती हैं
  • क्योंकि यह पावने लंबी दूरी तय करके आती हैं और अपने साथ अधिक आद्रता भी लाती हैं इसके कारण ही भारतीय उपमहाद्वीप में वर्षा होती है ऐसे ही दक्षिणी पश्चिमी मानसून की संज्ञा दी जाती है

आलोचकों के अनुसार यह मानसून की एक सरलीकृत व्याख्या है क्योंकि सूर्य की उत्तरायण एवं दक्षिणायन स्थिति प्रत्येक वर्ष निश्चित रहती है जबकि मानसून के आगमन में अनिश्चितता विद्यमान रहती है

मानसून उत्पत्ति सम्बन्धी जेट-स्ट्रीम संकल्पना

मानसून उत्पत्ति संबंधी जेट स्ट्रीम सिद्धान्त अपेक्षाकृत नवीन और विश्वसनीय सिद्धान्त है| ऊपरी वायुमंडल (9 से 18 किमी.) में प्रवाहित होने वाली तीव्र वायु-प्रणाली को ‘जेट स्ट्रीम’ कहा जाता है| जेट विमानों की उड़ान में सहायक होने के कारण इन्हें ‘जेट स्ट्रीम’ नाम दिया गया है|

ये पवनें सामान्यतः पश्चिम की ओर प्रवाहित होती हैं, लेकिन कुछ स्थानीय परिस्थितियों के कारण गर्मियों में पूर्वी जेट स्ट्रीम का उद्भव भी हो जाता है| ऊपरी वायुमंडल में प्रवाहित होने वाली ये पवनें धरतलीय मौसम की दशाओं को प्रभावित करती हैं|

मानसून उत्पत्ति संबंधी अन्य संकल्पनाएँ:

  • मानसून का भूमध्यरेखीय पछुआ पवन सिद्धान्त
  • मानसून की तापीय संकल्पना

मानसून के आगमन में जेट स्ट्रीम की भूमिका

सर्दियों के मौसम में भारत या एशिया के ऊपर ‘पछुआ जेट स्ट्रीम’ (जिसे उपोष्ण जेट स्ट्रीम या Subtropical Jet Stream भी कहा जाता है) प्रवाहित होती है, लेकिन तिब्बत हिमालय की उपस्थिति के कारण यह उत्तरी व दक्षिणी दो शाखाओं में बंट जाती है| इसकी उत्तरी शाखा हिमालय व तिब्बत के पठार के उत्तर में प्रवाहित होती है और दक्षिणी शाखा हिमालय के दक्षिण में प्रवाहित होती है|

जब तक पछुआ जेट स्ट्रीम भारत के ऊपर से प्रवाहित होती है, तब तक भारत पर उच्च दाब बना रहता है और वह धरातलीय वायु को ऊपर उठने से रोकती है| इसीलिए मई के मौसम में, जब उत्तर-पश्चिम भारत में अत्यधिक उच्च ताप पाया जाता है तब भी ऊपरी वायुमंडल में पछुआ जेट स्ट्रीम की उपस्थिति के कारण धरातलीय वायु ऊपर नहीं उठ पाती है| धरातलीय पवनों के ऊपर न उठ पाने के कारण उच्च ताप के बावजूद धरातलीय निम्न दाब नहीं बन पाता है और न ही मानसूनी पवनें भारत की ओर आकर्षित हो पाती हैं|

पछुआ जेट स्ट्रीम के कारण हवाएँ उत्तर से दक्षिण की ओर अर्थात उत्तर-पूर्वी मानसून के रूप में प्रवाहित होती हैं| गर्मियों के मौसम में जब सूर्य कर्क रेखा के ऊपर स्थित होता है तो पछुआ जेट स्ट्रीम भी उत्तर की ओर खिसक जाती है और हिमालय के दक्षिण में प्रवाहित होने वाली पछुआ जेट स्ट्रीम की धारा लुप्त हो जाती है| पछुआ जेट स्ट्रीम के लुप्त होते ही भारत के ऊपर पूर्वी जेट स्ट्रीम प्रवाहित होने लगती है|

 पूर्वी जेट स्ट्रीम की उत्पत्ति तिब्बत के पठार के गर्म होने से पठार के ऊपर की वायु के ऊपर उठने से होती है, लेकिन पूर्वी जेट स्ट्रीम की उत्पत्ति अत्यधिक अनियमित होती है|

पछुआ जेट स्ट्रीम के लुप्त होने और पूर्वी जेट स्ट्रीम के प्रवाहित होने के कारण ही उत्तर-पश्चिम भारत की धरातलीय गर्म पवनें ऊपर उठने लगती हैं और उच्च निम्न दाब का निर्माण हो जाता है, जिसे भरने के लिए मानसूनी पवनें भारत की ओर आकर्षित होती है और मानसून का आगमन हो जाता है|

मानसून की उत्पत्ति ( Origin of monsoon )

मानसून की प्रक्रिया को समझने के लिए निम्नलिखित तथ्य महत्वपूर्ण है ……
1 तापित संकल्पना..

स्थल एवं जल के गर्म एवं ठंडे होने की विधि प्रक्रिया के कारण भारत के स्थल भाग पर निम्न दाब का क्षेत्र उत्पन्न होता है जबकि इसके आसपास के समुद्रों के ऊपर उच्च दाब का क्षेत्र बनता है!

2 गतिक संकल्पना

फलोन के अनुसार ग्रीष्म ऋतु के दिनों में अंतर उष्णकटिबंधीय अभिसरण क्षेत्र की स्थिति गंगा के मैदान की ओर खिसक जाती है (यह विषुवतीय गर्त है जो प्राय विषुवत वृत्त से 5 अक्षांश उत्तर में स्थित होता है )इसे मानसून ऋतु में मानसून गर्त के नाम से भी जाना जाता

अंत-उष्णकटिबंधीय अभिसरण क्षेत्र

यह विष्णु बतिया अक्षांशों में विस्तृत गर्त एवं निम्न दाब का क्षेत्र होता है यहीं पर उत्तर पूर्वी तथा दक्षिण पूर्वी व्यापारिक पवनें आपस में मिलती है यह अभिसरण क्षेत्र विषुवत वृत्त के लगभग समांतर होता है लेकिन सूर्य की आभासी गति के साथ-साथ यह उत्तर या दक्षिण की ओर खिसकता है

सूर्य के उत्तरायण होने पर उत्तरी अभिसरण सीमा 30 उत्तरी अक्षांश तक विस्तृत हो जाती है स्थानांतरण के कारण भारतीय उपमहाद्वीप का अधिकांश भाग विषुवतीय पछुआ पवनों के प्रभाव में आ जाता है जो दक्षिण पश्चिम मानसून कहलाता है

शीत ऋतु में वायुदाब एवं पवन ेपटियां दक्षिण की ओर स्थानांतरित हो जाती हैं जिससे इस प्रदेश में उत्तर पूर्वी व्यापारिक पवनें स्थापित हो जाती हैं इन्हें उत्तरी पूर्वी मानसून कहते हैं

3 जेट धारा सिद्धांत

जेट धारा: यह एक संकरी पट्टी में स्थित शोभमंडल में 12000 मीटर से अधिक ऊंचाई वाली पश्चिमी हवाएं होती हैं इनकी गति गर्मी में 110 किलोमीटर घंटा एवं सर्दी में 184 किलोमीटर प्रति घंटा होती है बहुत सी अलग-अलग जेट धाराओं को पहचाना गया है उनमें सबसे स्थिर मध्य अक्षांशीय एवं उपोषण कटिबंधीय जेट धाराएं हैं|

शीत ऋतु में हिमालय तथा तिब्बत के पठार के द्वारा उपस्थित अवरोध के कारण जेट धाराएं दो शाखाओं में बट जाती है उत्तरी शाखा हिमालय तथा तिब्बत के पठार के उत्तर में तथा दक्षिणी शाखा इन के दक्षिण में बहती है जेट धारा के दक्षिण में अफगानिस्तान तथा उत्तर पश्चिमी पाकिस्तान के ऊपर निर्मित उच्च दाब के कारण उत्तरी-पश्चिमी भारत के ऊपर वायु नीचे बैठती है|

 ग्रीष्म ऋतु में ध्रुवो के ऊपर धरातलीय उच्च दाब क्षीण पड़ जाता है तथा ऊपरी वायुमंडलीय परिध्रुवीय भवर उत्तर की ओर खिसक जाता है| जेट धारा के तिब्बत के पठार के उत्तर की ओर खिसकने से उपमहाद्वीप के उत्तरी तथा उत्तरी-पश्चिमी भाग के ऊपर मुक्त वायु ं के प्रवाह के वक्र का उत्क्रमण हो जाता है |उत्तरी ईरान अफगानिस्तान के ऊपर एक गत्यात्मक गर्त विकसित हो जाता है जो पहले से धरातल पर स्थापित तापीय गर्त से ऊपर स्थिति होता है |यह परिघटना एक ट्रिगर का कार्य करती है जिससे मानसून का विस्फोट होता है|

4 महासागरीय राशियां

जब दक्षिण प्रशांत महासागर के उष्णकटिबंधीय पूर्वी भाग में उच्च दाब होता है तब हिंद महासागर के उष्णकटिबंधीय पूर्वी भाग में निम्न दाब होता है |लेकिन कुछ विशेष वर्षों में वायुदाब की स्थिति विपरीत हो जाती है दाब की अवस्था में इस नियत कालिका परिवर्तन को दक्षिणी दोलन कहते हैं दाब की अवस्था का संबंध एल नीनो से है इसलिए इस परिघटना को एल नीनो दक्षिणी दोलन कहा जाता है|

भारत में वर्षा के प्रकार 

1 मानसून पूर्व चक्रवर्तीय वर्षा

  • अप्रैल-मई में होने वाली वर्षा
  • भारत में कुल वर्षा का 10% भाग
  • यह वर्षा कई प्रकार की होती है जैसे चाय वर्षा नार्वेस्टर वर्षा आम्र वर्षा

1. चाय वर्षा

  • असम घाटी में होने वाली वर्षा जो चाय के बागानों के लिए लाभदायी होती है।
  • इसे स्थानीय भाषा में बाडौली छिड़ा कहते हैं।

2. नार्वेस्टर

  • इसकी उत्पत्ति छोटा नागपुर के पठार से होती है।
  • इससे झारखंड व उड़ीसा में वर्षा होती है।
  • पश्चिम बंगाल में इसे काल बैशाखी कहते हैं। यह फसलों के लिए नुकसानदायक होती है।

3. आम्र वर्षा

  • केरल में होने वाली वर्षा जो आम के बागानों के लिए लाभदायक होती है।

Indian Monsoon important facts and Quiz :-

  1. दक्षिण भारत का सबसे गर्म महीना कौन-सा होता है- अप्रैल
  2. पहाड़ी भागों में सर्वाधिक गर्म महीना होता है- जुलाई
  3. नारवेस्टर की उत्पत्ति कहां होती है-  छोटा नागपुर पठार पर
  4. वर्षा ऋतु में किस समय वायुमंडल सर्वाधिक आद्र होता है- प्रातः काल में
  5. देश के पश्चिमोत्तर भाग में कौन सा मानसून पहले पहुंचता है- अरब सागर का मानसून
  6. कौनसी मानसून शाखा देश में सर्वाधिक वर्षा करती है- बंगाल की खाड़ी की मानसून
  7. मेघालय में सर्वाधिक वर्षा का क्या कारण है- बंगाल की खाड़ी की अधिक आद्र हवाओं का यहां सीधा टकराना और गारो, खासी, जयंतिया पहाड़ी की कीपनुमा आकृति ।
  8. भारत में किस भाग में वर्षा:वर्षा ऋतु मैं नहीं होती है:- जम्मू कश्मीर तमिलनाडु के कुछ भागों
  9. भारत में मानसून की सबसे कम अवधि किस प्रदेश में पाई जाती है:- पंजाब में
  10. मानसून की सबसे कम अनिमितता पाई जाती है:- उत्तर पूर्वी भारत में
  11. भारत में किस प्रकार की वर्षा सर्वाधिक होती है:-  पर्वतीय वर्षा

Play Quiz 

No of Questions-36

0%

Q1 भारत में तापमान में बढ़ोतरी होती है

Correct! Wrong!

Q2 भारत में मानसून चक्रवातों को बंगाल में कहां जाता है

Correct! Wrong!

Q3 वर्षा ऋतु में उत्तर पश्चिम भारत और पाकिस्तान में निम्न दाब का क्षेत्र बन जाता है जिसे कहते हैं

Correct! Wrong!

Q 4 शीत मानसून कहा जाता है

Correct! Wrong!

Q5 भारत की मानसून को प्रभावित करने वाली हवाएं हैं

Correct! Wrong!

Q6 सर्दी की फसलों के लिए बहुत लाभकारी होती हैं

Correct! Wrong!

Q7वह धारा जो पेरू के तट से आरंभ होकर बंगाल भारत के बंगाल की खाड़ी तक पहुंचती है जिससे बंगाल की खाड़ी में कम दाब उत्पन्न होता है वह है

Correct! Wrong!

8. भारत के किस भाग में लौटते हुए मानसून के कारण वर्षा होती है।

Correct! Wrong!

व्याख्याः शीत ऋतु के समय पवन स्थल भागों से लौटकर बंगाल की खाड़ी की ओर बहती है। यह मानसून के लौटने का मौसम होता है। भारत के दक्षिणी भाग विशेषकर तमिलनाडु के क्षेत्र में इस मौसम में वर्षा होती है।

9. भारत के किन क्षेत्रों में वर्षा 50 सेंटीमीटर से कम होती है? 1. पूर्वी राजस्थान 2. लद्दाख 3. पश्चिमी राजस्थान 4. गुजरात कूटः

Correct! Wrong!

व्याख्याः प्रायद्वीपीय भारत के कुछ भागों विशेष रूप से आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र में तथा लद्दाख एवं पश्चिमी राजस्थान के अधिकतर भागों में 50 सेंटीमीटर से कम वर्षा होती है। पूर्वी राजस्थान और गुजरात में वर्षा 50 से 100 सेंटीमीटर के बीच होती है।

10. भारत के किन क्षेत्रों में वर्षा 200 सेंटीमीटर या उससे अधिक होती है? 1. पश्चिमी घाट 2. कोरोमंडल तट 3. उत्तर-पूर्व के उप-हिमालयी क्षेत्र 4. मेघालय की पहाड़ियाँ कूटः

Correct! Wrong!

व्याख्याः भारत में 200 सेंटीमीटर या उससे अधिक वर्षा पश्चिमी तट, पश्चिमी घाट, उत्तर-पूर्व के उप-हिमालयी क्षेत्र तथा मेघालय की पहाड़ियों पर होती है।

11. भारतीय मानसून की अरब सागर शाखा एवं बंगाल की खाड़ी शाखा मिलती हैं-

Correct! Wrong!

व्याख्याः मानसून भारतीय प्रायद्वीप के दक्षिणी छोर से प्रवेश करता है। इसके बाद यह दो भागों में बँट जाता है- अरब सागर शाखा एवं बंगाल की खाड़ी शाखा। अरब सागर शाखा एवं बंगाल की खाड़ी शाखा दोनों गंगा के मैदान के उत्तर-पश्चिमी भाग में आपस में मिल जाती हैं।

12. भारतीय मानसून के संदर्भ में नीचे दिये गए कथनों पर विचार कीजियेः 1. मानसूनी पवनें नियमित पवनें होती हैं। 2. भारत में वर्षा लाने वाला एकमात्र तंत्र अरब सागर से उठने वाली दक्षिण-पश्चिम मानसून धारा है। 3. भारतीय द्वीपों पर मानसून की सबसे पहली वर्षा होती है तथा मानसून की वापसी भी सबसे बाद में होती है। उपरोक्त में से कौन-सा/से कथन सत्य है/हैं?

Correct! Wrong!

व्याख्याः पहला कथन असत्य है। मानसूनी पवनें नियमित पवनें नहीं होती हैं, लेकिन ये स्पंदमान प्रकृति की होती हैं। उष्णकटिबंधीय समुद्रों के ऊपर प्रवाह के दौरान ये विभिन्न वायुमंडलीय अवस्थाओं से प्रभावित होती हैं। भारतीय मानसून का समय जून के आरंभ से लेकर मध्य सितंबर तक होता है। दूसरा कथन भी गलत है। भारत में वर्षा लाने वाले दो तंत्र हैं, पहला उष्णकटिबंधीय अवदाब है जो बंगाल की खाड़ी या उससे भी आगे पूर्व में दक्षिणी चीन सागर में पैदा होता है तथा उत्तरी भारत के मैदानी भागों में वर्षा करता है। दूसरा तंत्र अरब सागर में से उठने वाली दक्षिण-पश्चिम मानसून धारा है जो भारत के पश्चिमी तट पर वर्षा करती है। तीसरा कथन सत्य है। मानसूनी पवनों के द्वारा सबसे पहली वर्षा भारतीय द्वीपों पर होती है तथा मानसून की वापसी भी क्रमशः दिसंबर के प्रथम सप्ताह से जनवरी के प्रथम सप्ताह तक होती है। इस समय देश का शेष भाग शीत ऋतु के प्रभाव में होता है।

13. अंतः उष्ण कटिबंधीय अभिसरण क्षेत्र (आई.टी.सी.जेड.) के संबंध में नीचे दिये गए कथनों पर विचार कीजियेः 1. ये विषुवतीय अक्षांशों में विस्तृत गर्त एवं निम्न दाब का क्षेत्र होता है। 2. सूर्य की स्थिति में परिवर्तन के साथ यह क्षेत्र उत्तर या दक्षिण की ओर खिसकता है। उपरोक्त में से कौन-सा/से कथन सत्य है/हैं?

Correct! Wrong!

व्याख्याः उपरोक्त दोनों कथन सत्य हैं। अंतः उष्ण कटिबंधीय अभिसरण क्षेत्र (आई.टी.सी.जेड.) विषुवतीय अक्षांशों में विस्तृत गर्त एवं निम्न दाब का क्षेत्र होता है। यहीं पर उत्तर-पूर्वी एवं दक्षिण-पूर्वी व्यापारिक पवनें आपस में मिलती हैं। यह अभिसरण क्षेत्र विषुवत् वृत्त के लगभग समानांतर होता है, लेकिन सूर्य की आभासी गति के साथ-साथ यह उत्तर या दक्षिण की ओर खिसकता है।

14. पश्चिमी विक्षोभ के संदर्भ में नीचे दिये गए कथनों पर विचार कीजियेः 1. पश्चिमी विक्षोभ कैस्पियन सागर में उत्पन्न होते हैं। 2. भारत में इनका प्रवेश पश्चिमी जेट प्रवाह द्वारा होता है। उपरोक्त में से कौन-सा/से कथन सत्य है/हैं?

Correct! Wrong!

व्याख्याः कथन 1 गलत है। पश्चिमी विक्षोभ जो भारतीय उप-महाद्वीप में जाड़े के मौसम में पश्चिम तथा उत्तर-पश्चिम से प्रवेश करते हैं, भूमध्य सागर में उत्पन्न होते हैं। कथन 2 सत्य है। भारत में पश्चिमी विक्षोभों का प्रवेश पश्चिमी जेट के द्वारा होता है। शीत ऋतु में रात्रि के तापमान में वृद्धि इन विक्षोभों के आने का पूर्व संकेत है।

15. भारतीय वर्षण की प्रादेशिक विविधताओं के संबंध में नीचे दिये गए कथनों पर विचार कीजियेः 1. हिमालय में वर्षण मुख्यतः हिमपात के रूप में होता है। 2. तमिलनाडु के तटीय प्रदेशों में वर्षा शरद ऋतु के आरंभ में होती है। 3. उत्तरी मैदान में वर्षा की मात्रा पश्चिम से पूर्व की ओर घटती जाती है। उपरोक्त में से कौन-से कथन सत्य हैं?

Correct! Wrong!

व्याख्याः केवल कथन 1 और 2 सही हैं। हिमालय में वर्षण अधिकतर हिम के रूप में होता है तथा देश के शेष भागों में यह वर्षा के रूप में होता है। देश के अधिकतर भागों में जून से सितंबर तक वर्षा होती है, लेकिन तमिलनाडु के तटीय प्रदेशों में वर्षा शीत ऋतु के आरंभ (अक्तूबर एवं नवंबर) में होती है। कथन 3 गलत है। भारत के उत्तरी मैदान में वर्षा की मात्रा सामान्यतः पूर्व से पश्चिम की ओर घटती जाती है। वार्षिक वर्षण मेघालय में 400 से.मी., जबकि लद्दाख एवं पश्चिमी राजस्थान में 10 से.मी. से भी कम होता है। यह भिन्नता लोगों के जीवन में विविधता लाती है जो उनके भोजन, वस्त्र और घरों के रूप में दिखती है।

16. एशिया महाद्वीप में मानसूनी जलवायु मुख्यतः पाई जाती है- 1. दक्षिण एशिया में 2. पश्चिमी एशिया में 3. दक्षिण-पूर्वी एशिया में कूटः

Correct! Wrong!

व्याख्याः एशिया महाद्वीप में मानसूनी जलवायु मुख्यतः दक्षिण तथा दक्षिण-पूर्व एशिया में पाई जाती है। भारत की जलवायु को भी मानसूनी जलवायु कहा जाता है।

17. मानसून के संबंध में नीचे दिये गए कथनों पर विचार कीजियेः 1. मानसून शब्द की उत्पत्ति अरबी शब्द से हुई है। 2. मानसून का अर्थ, एक वर्ष के दौरान वायु की दिशा में ऋतु के अनुसार परिवर्तन है। उपरोक्त में से कौन-सा/से कथन सत्य है/हैं?

Correct! Wrong!

व्याख्याः उपरोक्त दोनों कथन सत्य हैं। मानसून शब्द की उत्पत्ति अरबी शब्द ‘मौसिम’ से हुई है, जिसका शाब्दिक अर्थ है- मौसम। मानसून का अर्थ एक वर्ष के दौरान वायु की दिशा में ऋतु के अनुसार परिवर्तन है।

प्रश्न=18.तमिलनाडु ने मानसून के सामान्य महीने कौन-से है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=19.भारतीय मानसून मौसमी विस्थापन से इंगित है,जिसका कारण है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=20.मानसून का निवर्तन इंगित होता है। 1.साफ आकाश से 2.बंगाल की खाड़ी में अधिक दाब परिस्थिति से 3.स्थल पर तापमान के बढ़ने से उपरोक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=21.भारत के किस भाग में सर्वाधिक दैनिक-तापान्तर पाया जाता है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=22.निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए- 1. दक्षिण भारत से उत्तरी भारत की ओर मानसून की अवधि घटती है। 2.उत्तर भारत के मैदानों में वार्षिक वृष्टि की मात्रा पूर्व से पश्चिम की ओर घटती है। उपरोक्त कथनों में से कौन-सा /से सही है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=23.उत्तरी-पूर्वी मानसून से सबसे अधिक वर्षा प्राप्त करने वाला राज्य है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=24.भारत की सर्वाधिक वर्षा मुख्यतः प्राप्त होती है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=25.भारतीय उपमहाद्विप पर ग्रीष्म ऋतु में उच्च ताप और निम्नदाब, हिन्द महासागर से वायु का कर्षण(Draws) करते है,जिसके कारण प्रवाहित होता है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=26.उत्तरी भारत के विशाल मैदान में मानसून विच्छेद का क्या कारण है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न=27.निम्नलिखित युग्मों में से कौन-सा/ से युग्म सही सुमेलित है-? 1.बोडोचिल्ला-असम 2.आम्र वर्षा-दक्षिण भारत 3.चेरीब्लासम-कर्नाटक व केरल 4.काल-वैशाखी--पश्चिम बंगाल कूट-

Correct! Wrong!

प्रश्न 28.दिल्ली में वार्षिक-तापान्तर अधिक है,क्योकि;-?

Correct! Wrong!

प्रश्न 29.भारत के कोरोमंडल तट पर सर्वाधिक वर्षा होती है:-?

Correct! Wrong!

प्रश्न 30.अरब सागर शाखा के मानसूनों की दिशा होती है:-?

Correct! Wrong!

प्रश्न 31.निम्नलिखित में से कौन-सा राज्य लौटती मानसून से प्रभावित नहीं होता है:-?

Correct! Wrong!

प्रश्न 32.भारत में सुखा जिसका परिणाम है,वह है:-?

Correct! Wrong!

प्रश्न 33.सामान्यतया जिस राज्य में शीतकालीन वृष्टि नहीं होती, वह है-?

Correct! Wrong!

प्रश्न 34.मानसून शब्द किस भाषा के शब्द से बना है?

Correct! Wrong!

प्रश्न35.भारत का उत्तरी भाग किस कटिबंध में है-

Correct! Wrong!

प्रश्न 36.भारतीय मानसून सर्वप्रथम कहां पहुंचता है-?

Correct! Wrong!

Indian Monsoon Quiz ( भारतीय मानसून )
VERY BAD! You got Few answers correct! need hard work.
BAD! You got Few answers correct! need hard work
GOOD! You well tried but got some wrong! need more preparation
VERY GOOD! You well tried but got some wrong! need preparation
AWESOME! You got the quiz correct! KEEP IT UP

Share your Results:

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

राजवीर प्रजापत, रमेश डामोर सिरोही,  P K Nagauri, निर्मला कुमारी, कुम्भा राम लीलावत, DINESH KUMAR TONK