Input and Output Devices

Input Devices

Key board, mouse, trackball, joystick, scanner, microphone, webcam, bar code reader, optical character reader, magnetic ink character reader, optical mark reader, Kim Ball Tag Reader, Speech Recognition System, Light Pen, touch screen

Output Devices

कंप्यूटर द्वारा संसाधित आंकड़ों के परिणाम कंप्यूटर के जिन यंत्रों द्वारा प्रदान किए जाते हैं वह यंत्र कंप्यूटर के निर्गत यंत्र Output device कहलाते हैं  यह निर्गत यंत्र सूचनाओं या परिणामों को हार्ड कॉपी के रूप में या सॉफ्ट कॉपी के रूप में हमें प्रदान करते हैं

हार्ड कॉपी किसी कागज या माइक्रोफिल्म पर छपा हुआ आउटपुट हार्ड कॉपी कहलाता है यह स्थाई होती है Soft copy सिस्टम यूनिट CPU से प्राप्त परिणाम जब मॉनिटर पर प्रदर्शित होता है तो परिणाम के इस दृश्य को soft copy कहते हैं जो अस्थाई होती है

कंप्यूटर की विभिन्न आउटपुट युक्तियां निम्नलिखित है

Monitor, printer, speaker, plotters, screen image projector

Monitor

मॉनिटर स्क्रीन या मॉनिटर आउटपुट के दिखाई देने की क्रिया डिस्प्ले कहलाती है स्क्रीन या मॉनिटर डिस्प्ले युक्तियां है कंप्यूटर मोनिटर टेलीविजन स्क्रीन के समान डिस्प्ले वाला यूनिट होता है इसे विजुअल डिस्प्ले यूनिट भी कहते हैं

Types of Monitor

मॉनिटर दो प्रकार के होते हैं

1. Monochrome Monitor ( मोनोक्रोम मॉनिटर )- मोनोक्रोम का अर्थ एकल रंग वाले मॉनिटर ब्लैक एंड वाइट TV

2. Color monitor – कलर मॉनिटर इसमें लाल हरा नीला रंगों से विभिन्न प्रकार के रंग डिस्प्ले होते हैं

Pixels – म्यूच्यूअल डिस्प्ले यूनिट पर दिखाई जाने वाली हर सूचना या चित्र बहुत से छोटे-छोटे चमकीले बिंदुओं से मिलकर बनती है जिन्हें Pixels कहते हैं

Cursor – मॉनिटर पर एक छोटी सी चमकीली लाइन टिमटिमाती है जिसे Cursor कहते हैं

Types of monitors on technical basis

तकनीकी आधार पर मॉनिटर दो प्रकार के होते हैं

Cathode ray tube monitor – इनमें पिक्चर ट्यूब एलिमेंट होता है यह ट्यूब कैथोड रे ट्यूब कहलाती है इसमें एक इलेक्ट्रॉन गन होती है इसके द्वारा प्राप्त इलेक्ट्रॉन बिम को परावर्तित कर् चित्र बनाता है।

Flat panel display or LCD monitor-  वर्तमान में CRT तकनीकी स्थान पर फ्लैट पैनल डिस्प्ले मॉनिटरिंग प्रयुक्त हो रहे हैं यह वजन में हल्के तथा विद्युत की कम खपत करने वाले होते हैं FPD मॉनिटर में द्रव्य क्रिस्टल डिस्प्ले तकनीक प्रयुक्त होती है एलसीडी मॉनिटर में सीआरटी मॉनिटर की तुलना में कम रिजोल्यूशन होता है

मॉनिटर या डिस्प्ले डिवाइस में आउटपुट युक्ति के रूप में दो कमियां होती है एक बार में सीमित डाटा ही दिखाई देता है। और स्क्रीन पर आउटपुट की सॉफ्ट कॉपी स्थानान्तरणीय नहीं होती जिससे इसे कागज पर नहीँ लिया जा सकता है।

मॉनिटर की दोनों कमियां आउटपुट युक्ति के रूप में प्रिंटर पूरी करता है

Printer

प्रिंटर एक ऑनलाइन आउटपुट युक्ति है जो आउटपुट को कागज पर छाप कर प्रस्तुत करता है कागज पर छपी प्रति हार्ड कॉपी कहलाती है

Types of printers

प्रिंटर के प्रकार कार्य करने की गति के आधार पर

1. Character printer – एक बार में एक कैरेक्टर प्रिंट करता है इसे सीरियल प्रिंटर भी कहते हैं करेक्टर प्रिंटर 200 से 450 करेक्टर प्रति सेकंड प्रिंट करता है डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर ,डेज़ी व्हील प्रिंटर ,इंकजेट प्रिंटर करेक्टर प्रिंटर है ।

2. Line Printer –  लाइन प्रिन्टर एक लाइन प्रिंट करता है 200 से 500 लाइन प्रति मिनट प्रिंट करता है ड्रम प्रिंटर बैण्ड प्रिंटर एवं चैन प्रिंटर लाइन प्रिंटर के उदाहरण है

3. Page Printer –  यह प्रिंटर एक बार में पूरा पेज प्रिंट करता है या विशाल डाटा का प्रिंट लेने में सक्षम होता है इसे इमेज प्रिन्टर भी कहते हैं लेजर प्रिंटर LED प्रिंटर phaser प्रिन्टर आदि पेज प्रिंटर है।

कंप्यूटर प्रिंटिंग तकनीक के अनुसार प्रिंटर्स में विभिन्न प्रकार निम्नलिखित है

1. Impact Printer – प्रिंटिंग की विधि टाइपराइटर की विधि के समान होती है जिसमें एक धातु का हैमर या प्रिंट हैड कागज पर चोट करता है।डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर एवं डेज़ी व्हील प्रिंटर इंपैक्ट प्रिंटर है।

2. Non-Impact printer- इस प्रिंटिंग तकनीक मप्रिंट हैड़ व कागज के मध्य संपर्क नहीं होता है यह ध्वनि मुक्त प्रिंटर है क्योंकि इसमें प्रिंट हैड कागज पर चोट नहीं करता है नॉन इंपैक्ट प्रिंटिंग की अनेक विधियां हैं जैसे इलेक्ट्रोथर्म ,इंकजेट, लेजर, और थर्मल ट्रांसफर आदि ।

Impact Printer के प्रकार है।

  1. Dot matrix printer
  2. Daisy wheel printer
  3. Inkjet printers
  4. Laser printers
  5. Electro Thermal Printers
  6. Thermal Transfer Printers

Plotters

यह एक आउटपुट युक्ति है जो चार्ट चित्र नक्शे TV में रेखाचित्र और अन्य प्रकार की हार्ड कॉपी प्रस्तुत करने का कार्य करती है प्लॉटर सामान्य दो प्रकार के होते हैं ड्रम पेम प्लॉटर और फ्लैट बेड प्लॉटर।

इनपुट और आउटपुट दोंनो में काम आने वाली डिवाइस

Modem, touch screen, headset, fax

 

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

श्याम सुंदर बीकानेर, चंद्रप्रकाश सोनी,पाली

Leave a Reply