Internet

इंटरनेट

इन्टरनेट पूरे विश्व भर में विस्तृत कंप्यूटर नेटवर्कों का एक नेटवर्क है , जिससे दुनिया भर में अनेक नेटवर्क जुड़े हुए है , अतः इसे Network of networks भी कहा जाता है। जिसमें प्रत्येक नेटवर्क के प्रत्येक कंप्यूटर किसी भी नेटवर्क के किसी भी कंप्यूटर से कॉम्यूनिकेट कर सकते है।

इन्टरनेट पर किसी भी दो समान या भिन्न नेटवर्क के कंप्यूटर एक – दूसरे से  कॉम्यूनिकेट करने के लिये कुछ निश्चित नियमों का पालन करते है , तथा इन नियमों के सेट ( set ) को प्रोटोकॉल (protocol ) कहा जाता है।

इन्टरनेट पर दो कंप्यूटर आपस में कॉम्यूनिकेट करने के लिये जिस प्रोटोकॉल का प्रयोग करते है , उसे TCP/IP के नाम से जाना जाता है

इन्टरनेट विभिन्न सुचना संसाधनों और सेवाओं ; जैसे – इलेक्ट्रोनिक मेल, ऑनलाइन चैट, ऑनलाइन बैंकिंग, फाइल ट्रान्सफर और शेयरिंग, ऑनलाइन गेमिंग, इन्टरलिंक्ड हाइपरटेक्सट दस्तावेज एवं वर्ल्ड वाइड वेब इत्यादि को वहन (carry) करती है

किसी कम्प्यूटर को इन्टरनेट से जोड़ने के लिए हमें इन्टरनेट प्रोवाइडर सर्विस की सेवा लेनी होती है, टेलीफोन लाइन के माध्यम से कम्प्यूटर को इन्टरनेट सर्विस प्रोवाईडर के सर्वर से जोड़ा जाता है इंटरनेट की सबसे लोकप्रिय गतिविधि संचार है

Internet History ( इंटरनेट का इतिहास ) 

सर्वप्रथम इसका उपयोग प्रयोगिक तौर पर सन 1970 में अमेरिकी मंत्रालय की Advance Research Project Agency (ARPA) द्वारा किया गया तथा इसका नाम ARPANET रखा गया । इंटरनेट एक विशाल नेटवर्क है जो विश्व के छोटे-छोटे अधिक नेटवर्कों को एक साथ जोड़ता है

इंटरनेट दुनिया के विभिन्न स्थानों पर स्थापित टेलीफोन लाइन में हो या उपग्रहों की सहायता से एक दूसरे के साथ जुड़े कंप्यूटरों का नेटवर्क है इंटरनेट का पूरा नाम International network है

1991 में Switzerland में Center for European Nuclear Research में पहली बार वेब को पेश किया गया अब से पहले इंटरनेट का उपयोग होता था किसी प्रकार की ग्राफिक, एनिमेशन, आवाज़ या वीडियो का नहीं इसमें सभी विशेषताओं को भी शामिल किया इसने इंटरनेट पर उपलब्ध संसाधनों के लिए एक Multimedia Interface प्रदान किया इन प्रारंभिक शोध की शुरुआत होने के फलस्वरुप इंटरनेट तथा वेब 21वीं सदी के सबसे अधिक शक्तिशाली टूल्स बन गए हैं

यह दोनों सामान नहीं है इंटरनेट नेटवर्क होता है वास्तव में। यह विभिन्न कम्प्यूटर के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए तारों केबल्स, सेटेलाइट तथा नियमों को जोड़कर बनाया गया नेटवर्क है

इंटरनेट एक्सेस करने के लिए इंटरनेट सेवा मॉडल वेब ब्राउज़र सभी आवश्यक हे इंटरनेट सर्वर से सेवाएं प्राप्त करने वाला कंप्यूटर क्लाइंट कहलाता है  इंटरनेट एक WAN का उदाहरण है

भारत में इन्टरनेट सेवा 15 अगस्त 1995 को विदेश संचार निगम लिमिटेड ( VSNL ) ने आरम्भ किया भारत में लोकप्रिय इन्टरनेट सेवा प्रदान VSNL ( विदेश संचार  निगम लिमिटेड ), BSNL ( भारत संचार निगम लिमिटेड ), MTNL ( महानगर टेलिफ़ोन निगम लिमिटेड ), मंत्रा ऑनलाइन तथा सत्यम ऑनलाइन  इत्यादि हैं

इन कंपनियों के भारत के अनेक शहरों में DNS ( Domain Name System ) सर्वर है| DNS एक कम्प्यूटर है, जो दुसरे कम्प्यूटर के डोमेन ( Domain ) नाम को IP ( Internet protocol ) एड्रेस से अनुवाद करता है|

वर्तमान समय मैं BSNL द्वारा दो माध्यमों में इन्टरनेट की सेवा उपलब्ध कराई जाती है

Web Page ( वेब पेज )

वेब बहुत सारे कंप्यूटर डॉक्यूमेंटो का संग्रह है। ये डॉक्यूमेंट HTML में लिखे जाते है। तथा वेब ब्राउजर द्वारा प्रदर्शित किये जाते है। ये दो प्रकार के होते है –

  1. Static
  2. Dynamic

Website- एक वेबसाईट वेब पेजो का संग्रह होता है,जिसमे सभी वेब पेज हाइपरलिंक द्वारा एक -दूसरे से जुड़े रहते है। किसी भी वेबसाईट का पहला पेज होम पेज कहलाता हैं।

Web Browser- यह एक सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन है,जिसका प्रयोग www कन्टेन्ट को ढूंढने,निकलने और प्रदर्शित करने में होता है।

Web Server– यह एक कंप्यूटर प्रोग्राम है ,जोकि HTML पेजो या फाइलो की जरुरतो को पूरा करता है।

Web Address-  इंटरनेट पर वेब एड्रेस किसी विशिष्ट वेब पेज की लोकेशन को पहचानता है। एड्रेस को URL (Uniform Resource Locator) भी कहते है।

Components of internet ( इंटरनेट के आवश्यक घटक ‌‍)

  1. Personal computer
  2. Modem
  3. Communication medium
  4. Internet software
  5. Internet service provider.

Uses of Internet ( इंटरनेट का उपयोग ) – 

इस नेटवर्क से जुड़े रहने को अक्सर ऑनलाइन रहते हैं प्रतिदिन विश्व के लगभग प्रत्येक देश से अरबों यूजर्स इंटरनेट का प्रयोग करते हैं
सबसे अधिक किए जाने वाले प्रयोग हैं संचार बड़े स्तर पर इंटरनेट और वेब के सर्वाधिक प्रचलित उपयोग है इसके द्वारा पूरे विश्व में लगभग कहीं भी अपने परिवार तथा मित्रों के साथ ईमेल का आधार प्रदान कर सकते हैं अपने पसंदीदा विषयों के अनगिनत. विविध चर्चा, वाद-विवाद में शामिल हो सकते हैं

खरीदारी -इंटरनेट पर तेजी से विकसित हो रही Applications में से एक है यहाँ विंडो शॉपिंग, नये फैशन तथा सस्ती वस्तुओं की खोज करके वस्तुओं को खरीद भी सकते हैं सूचना से संबंधित सर्चिंग कभी भी आसान नहीं होती लेकिन आप अपने घर के कंप्यूटर से सीधे विश्व के विशालतम पुस्तकालयों में से कहीं भी पहुंच सकते हैं आप स्थानीय राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर के ताजा समाचार सुन सकते हैं

मनोरंजन के विकल्प तो मानो कभी समाप्त ही नहीं होते आप यहां Music, Movies, Magazine, Address, Computer Games को ढूंढ सकते हैं Book, Club, Interactive Live Games में हिस्सा ले सकते हैं

Education or E-learning ( शिक्षा या ई लर्निंग ) दूसरी सर्वाधिक इस्तेमाल होने वाली एप्लीकेशन है यहां लगभग किसी भी विषय में पढ़ाई कर सकते हैं कुछ ऐसे भी कोर्स जो सिर्फ मनोरंजन के लिए होती तथा कुछ कोर्स हाई स्कूल, कॉलेज ग्रेजुएट स्कूल के लिए होते हैं और कुछ कोर्स निशुल्क होते हैं अन्य में काफी लागत भी लगती है

इंटरनेट तथा वैब का प्रयोग करने का पहला चरण है कनेक्ट होना या इंटरनेट एक्सेस करना

Protocols

कंम्यूटरो के बीच डेटा के आदान – प्रदान को।  ईंटरनेट के आधुनिक प्रोटोकॉल्स

  • TCP -Transmission Control Protocol
  • IP – Internet Protocol 

Bandwidth – ये संचार माध्यमों की क्षमता का माप होती है। एक निश्चित समय में कितनी सूचना संचार माध्यम के जरिए भेजी जा सकती है।

Internet important facts – 

  • Internet का अर्थ है – नेटवर्कों का बड़ा नेटवर्क
  • Backup क्या है? – सिस्टम की इनफॉरमेशन की ठीक वैसी ही प्रतिलिपि
  • वर्ड का वह फीचर जो कुछ स्पैलिंगों, टाइपिंग, कैपिटल अक्षरों या व्याकरण की त्रुटियों को अपने आप ठीक कर देता है – Autocorrect
  • स्टोरेज डिवाइस पर जो मुख्य फोल्डर होता है, उसे क्या कहा जाता है –Root Directory
  • वह चीज, जो निर्देशों को सरलता से समझ गई है, कहलाती है –User Friendly
  • वे विशिष्ट प्रोग्राम जो वेब पर आवश्यक सामग्री को ढूंढ़ने में उपयोगकर्ता की मदद करते हैं, कहलाते हैं –Search Engine
  • वर्ड में किसी डॉक्यूमेंट में किसी विशिष्ट शब्द या मुहावरे को ढूंढ़ने के लिए सबसे सरल और त्वरित तरीका है – Find command का उपयोग करना
  • इंटरनेट पर सर्वर से कंप्यूटर द्वारा सूचना प्राप्त किए जाने की प्रक्रिया को कहते हैं – Downloading 
  • ब्रोशर, पोस्टर और न्यूजलैटर बनाने के लिए किस प्रकार का सॉफ्टवेयर सबसे ज्यादा उपयोगी है? – डेस्कटॉप पब्लिशिंग सॉफ्टवेयर
  • Chat क्या है? – टाइप की हुई बातचीत जो कंप्यूटर पर घटित होती है
  • Arithmetic operation– में जमा, घटाना, गुणा और भाग शामिल है।
  • स्लाइड शो बनाने के लिए किस एप्लीकेशन का इस्तेमाल होता है? – PowerPoint
  • Junk ई-मेल का अन्य नाम है? – Spam
  • ई-कॉमर्स के जरिए क्या संभव है? – इंटरनेट पर बिजनेस करना
  • वर्तमान डॉक्युमेंट में बदलाव क्या कहलाता है? – Editing 
  • आपस में संबंधित फाइलों का संग्रह क्या कहलाता है? – Recoards

 

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

किरण अरोड़ा सिरोही, P K Nagauri, निर्मला कुमारी, संदीप भाटी रावला