Tansen ( तानसेन )

मूल नाम- रामतनु पांडे (तन्ना)   जन्म:- संवत 1553
जन्म स्थान :-ग्राम बेहट (ग्वालियर) मृत्यु :-संवत 1646
पिता :- मकरंट पांडे

गुरु :- स्वामी हरिदास, गोविंद स्वामी, मो, गोस,बैजु, वकसू, कर्ण, महमूल, मकरंद !
संरक्षण :- दौलत खा, भाथा के राजा रामचंद्र एवं मुगल सम्राट अकबर !
ग्रंथ :- संगीतसार एवं रागमाला !

विशेष :- ध्रुपद शैली के विख्यात गायक,दीपक राग गाने में अद्भुत निपुण प्राप्त था अकबर के नवरत्नों में से एक थे दरबारी कान्हड़ा, मियां की मल्हार, मियां की सारंग, मियां की तोड़ी नामक रागों का तथा रवाब एवं वीणा वाद्यो का आविष्कार किया !

Allauddin khan ( अलाउद्दीन खां )

जन्म :-1881 दुर्गा अष्टमी के दिन
जन्म स्थान :-ग्राम शिवपुरा( त्रिपुरा)
मृत्यु :-6 सितंबर 1972
पिता:- साधुखा
माता :-हरसुंदरी देवी

गुरु :-नीलू गोपाल, नंदू बाबू,हाबूदत्त, अहमद अली खा,उस्ताद वजीर खा से सरोद, रबाब व मोह खान से ध्रुपद !
संरक्षण:- मेहर महाराज ब्रजनंद !
उपाधियां :-भारत गौरव, आफताबे ए हिंद,संगीताचार्य संगीत नायक !
सम्मान:- पद्मभूषण, पद्मविभूषण !

विशेष :- सरोद वादन से प्रसिद्धि प्राप्त की 28 अनाथ बच्चों को संगीत में दक्ष कर मैहर बैंड का गठन किया उन्होंने नए-नए रागो सहित सुरती सर, चंद्र सारंग अलग तरंग आदि वाद्य यंत्रों का आविष्कार किया ! रविशंकर उनके शिष्य थे संगीत में आपका योगदान को चिरस्मृति बनाए रखने हेतु आप के नाम पर 1979 में संगीत एकेडमी स्थापित की गई जो शास्त्रीय संगीत और नृत्य के संरक्षण संवर्धन और विस्तार के लिए कार्य कर रही है !

Kumar Gandharv ( कुमार गंधर्व )

जन्म :- 1924
मृत्यु:-12 जनवरी 1991
पिता:- श्री सिद्धारमैया

गुरु :- बी.आर.देवधर, अंजनी बाई, मातेकर !
रचनाएं :- अनूप राग विलास
सम्मान :- मध्यप्रदेश शासन द्वारा कालिदास एवं शिखर सम्मान,संगीत नाटक एकेडमी पुरस्कार एवं पद्म विभूषण

विशेष :- संगीत क्षेत्र का उनके अप्रितम योगदान को को सम्मानित करने और नए संगीतकार को प्रोत्साहन देने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने उनके नाम पर कुमार गंधर्व सम्मान की स्थापना की है !

Raja Chakradhar Singh ( राजा चक्रधर सिंह )

जन्म :- सन 1905
जन्म स्थान :-गाँव भंवरतान(बिलासपुर)
मृत्यु:- 1947
पिता:- राजा नटवर सिंह

गुरु :-लाल नारायण सिंह,भुपदेव सिंह,लक्ष्मण सिंह
रचनाएं :-रागरत्न मंजूषा,तालतोयनिधि( संगीतविषयक) मूरजे वर्ण पुष्पाकर नर्तन सरव्स्व ( नृत्य संबंधी) तथा अल्कापुर,माया चक्र, रस्मरास( सभी साहित्यिक)
सम्मान :- संगीत सम्राट

विशेष :- राजा चक्रधर सिंह की स्मृति में आज भी रायगढ़ में चक्रधर समारोह का आयोजन किया जाता है

Pandit kartik ram ( पंडित कार्तिक राम )

जन्म :- सन 1910 ईस्वी
जन्म स्थान :- भंवरताल बिलासपुर
मृत्यु:- सन 1992 में

पिता:- श्री पंडित कुंजी राम
गुरु :- लखनलाल,पंडित जय लाल, लक्ष्मण महाराज, सुंदर प्रसाद ,शंभू महाराज !
संरक्षण राजा चक्रधर सिंह !
सम्मान :- नृत्य सम्राट, मध्य प्रदेश शासन का शिखर सम्मान,संगीत नाटक एकेडमी अवार्ड ,सुर श्रंगार परिषद मुंबई से पदातिक सम्मान

विशेष :- गम्मत के श्रेष्ठ कलाकार अपने समय के असाधारण नृत्यकार रायगढ़ घराने की विलक्षण विशिष्ट कम अधिक विलंबित लय पर असाधारण अधिकार भजन,गजल व ठुमरी गायन

Ustad Hafiz Ali Khan ( उस्ताद हाफिज अली खान )

जन्म :- 1892 ईसवी
जन्म स्थान :- ग्वालियर
मृत्यु:- सन 1972
पिता:- नन्हे खा

गुरु :- उस्ताद वजीर अली ख़ा,चुक्का लाल, गणेशीलाल,गणपतराव !
संरक्षण :-ग्वालियर महाराज माधवराव सिंधिया तथा जीवाजी राव सिंधिया !
उपाधियां :-आफताब ए सरोज, संगीत रत्नालंकार !
सम्मान :- पद्मभूषण (1960)

विशेष :- आप संगीत के क्षेत्र में अटल शुद्धतावादी और बहुमुखी थे अपने समय में ध्रुपद के भव्य और अभिजात्य पूर्ण गायन में उनका कोई मुकाबला नहीं था सरोद वादन के लिए प्रसिद्ध थे तथा सरोद वादन को विशिष्ट आयाम दिया

Krishnarao Pandit ( कृष्णराव पंडित )

जन्म :- 26 जुलाई 1893
पिता:- शंकर राव पंडित

गुरु :- पिता -शंकर राव पंडित, निसार हुसैन खां
रचनाएं :- विविध संगीत शिक्षा के लिए अनेक पुस्तकें लिखी जैसे संगीत सरगम सार, संगीत प्रवेश, संगीत अलाप,संचारी तबला वादन शिक्षा सितार ,जलतरंग वादन शिक्षा हारमोनियम वादन शिक्षा !
सम्मान :- तानसेन सम्मान, पद्मभूषण

उपाधि :- गायक शिरोमणि (सरदार पटेल द्वारा), संगीत रत्न अलंकार (ग्वालियर दरबार ),संगीत शिरोमणि (मुल्तान संगीत सभा द्वारा) गायन विशारद, संगीत मार्तंड,ताल सम्राट (पटियाला दरबार )गायन महर्षि (संकेश्वर पीठ के शंकराचार्य) सुर विलास !

विशेष :- स्वतंत्र गायक रूप में उन्होंने अपनी विशिष्ट पहचान बनाई गई का की जटिलता उनकी विशेषता थी ग्वालियर में उन्होंने संगीत विद्यालय की स्थापना की अनगिनत रेडियो कार्यक्रमों का प्रसारण एवं संगीत सम्मेलनों का आयोजन

Shankar Rao Pandit ( शंकर राव पंडित )

जन्म :- 1862 ईसवी
जन्म स्थान :- ग्वालियर
मृत्यु:- सन 1917 ईस्वी

पिता:- विष्णु पंडित
गुरु :- निसार हुसैन खा, बड़े बाल कृष्ण बुवा, हद्दू खान के गायन से प्रेरणा ली
सम्मान :- राष्ट्रपति पदक,संगीत गायक

विशेष :- ख्याल गायिका मैं अत्यंत निषनात,उच्च कोटि के संगीत शिक्षक भी थे ! निस्वार्थ भाव से संगीत सेवा की कृष्ण राव पंडित इन के पुत्र थे

Raja Bhaiya Punchwale ( राजा भैया पूँछवाले )

जन्म :- 12 अगस्त सन 1882
जन्म स्थान :- ग्वालियर
मृत्यु:- 1 अप्रैल 1956
पिता:- आनंद राव

गुरु :- बलदेव जी,लाला बुवा बागवान भुवा,शंकरराव जी से सुन-सुनकर गायन सिखा,पिता से सितार सीखा
रचनाएं :- तानमालिका संगीत उपासना,ठुमरी तरंगिनी, तथा ध्रूपद धमार गायकी !
सम्मान एवं उपाधियाँ :- संगीत रत्नाकर,संगीताचार्य, सर्वश्रेष्ठ गायक,राष्ट्रपति पदक

विशेष :- ख्याल, ठुमरी,टप्पे में विशेष निपुणता शालेय संगीत के क्षेत्र में श्री राजा भैया पहुंच वाले का नाम अग्रणी है माधव संगीत विद्यालय की स्थापना में प्रमुख योगदान,ग्वालियर घराने के पारंपरिक गायन शैली से प्रमाणित प्रस्तोता, बड़ी संख्या में स्वरलिपि तैयार कर भावी पीढ़ी के लिए छोड़ा

Ustad Amir Khan ( उस्ताद अमीर खाँ )

जन्म :- 1913
जन्म स्थान :- इंदौर
मृत्यु:- 1974
पिता:-शमीर खाँ

सम्मान :- पद्मभूषण मध्य प्रदेश का एकेडमी अवार्ड

विशेष :- ख्यल गायन शैली ख्याल गायकी के क्षेत्र में उनका विशेष योगदान हैं अपनी आवाज की कमजोरियों को उन्होंने अपने गायन की विशेषताओं में बदल लिया अमेरिका ब्रिटेन में विजिटिंग प्रोफेसर के पद और यात्रा कि ! उनकी स्मृति में उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत एकेडमी प्रतिवर्ष इंदौर में अमीर खान समारोह का आयोजन करती है

 

Play Quiz 

No of Questions-30

[wp_quiz id=”4313″]

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

विष्णु गौर जिला- सीहोर, मध्यप्रदेश

Leave a Reply