Madhya Pradesh main waterfall ( मध्यप्रदेश के प्रमुख जलप्रपात )

1. चचाई जलप्रपात

Image result for चचाई जलप्रपात

  • चचाई जलप्रपात’ मध्य प्रदेश के ख़ूबसूरत पर्यटन स्थानों में से एक है। यह एक प्राकृतिक एवं गोलाकार जलप्रपात है। इस प्रपात को “भारत का नियाग्रा” भी कहा जाता है।
  • चचाई जलप्रपात रीवा, मध्य प्रदेश से उत्तर की ओर 42 कि.मी. की दूरी पर सिरमौर तहसील में स्थित है। यह प्रपात बीहर नदी द्वारा निर्मित होता है। यह एक खूबसूरत एवं आकर्षक जलप्रपात है, जो 115 मीटर गहरा एवं 175 मीटर चौड़ा है। बीहर नदी के एक मनोरम घाटी में गिरने से यह प्रपात बनता है। यह एक प्राकृतिक एवं गोलाकार जलप्रपात है।
  • स्थिति? चचाई रीवा संभाग का सबसे सुन्दरतम प्राकृतिक एवं भौतिक जलप्रपात है। बीहर नदी का उद्गम स्थल सतना ज़िले की अमरपाटन तहसील का ‘खरमखेड़ा’ नामक ग्राम है। चचाई ग्राम के निकट इस जलप्रपात के स्थित होने के कारण ही इसका नाम ‘चचाई जलप्रपात’ पड़ा है।
  • प्राकृतिक सौंदर्य? इस जलप्रपात का प्रकृति पदत्त और कलात्मक सौन्दर्य बेजोड़ है। जहाँ बीहर नदी को अपने आगोश में लेते ही लगभग 130 मीटर की ऊँचाई से गिरते ही पानी बिखर कर दूधिया हो जाता है ! फलस्वरूप आसपास कोहरे की हल्की झीनी चादर फैल जाती है।
  • चचाई जलप्रपात के आसपास सैकड़ों मीटर दूर तक नन्हीं-नन्हीं फुहारों से समूचा वातावरण आनंददायी हो जाता है। ऐसा चमत्कारिक दृश्य किसी को. भी सम्मोहित कर देता है!
  • चचाई जलप्रपात का प्रकृतिक सौन्दर्य मनभावन एवं सुहावना लगता है, इसलिए यह आकर्षक एवं दर्शनीय है। 1957 में इसे भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाह रलाल नेहरू अद्भुत एवं अद्वितीय उच्चारण के साथ अपलक किंकर्त्तव्य विमूढ़ होकर देखते रहे कि मानों ठगे से रह गए हों। इतना ही नहीं प्रख्यात समाजवादी नेता, चिंतक एवं लेखक डॉ. राम मनोहर लोहिया ने इसे समय-समय पर अपने लेख एवं अध्ययन की साधना स्थली बनाया था।
  • चचाई जलप्रपात के जल तक पहुँचने के लिए सीढ़ियाँ बनी हैं। अब इसके ऊपर एक जलाशय का निर्माण करके 315 मेगावाट जलविद्युत का उत्पादन ‘टोन्स हाइडल प्रोजेक्ट’ के माध्यम से किया जा रहा है।
  • ‘टोन्स हाइडल प्रोजेक्टर’ बनने से पहले यहाँ की विशेषता थी कि बारहों महीने नदी में पानी रहता था और चचाई जलप्रपात को भी कोई नुकसान नहीं पहुँचता था, उसका बिखरा सौन्दर्य बरकरार रहता था और बिजली उत्पादन भी पर्याप्त होता था। अब प्रकृति के प्रकोप एवं अतिवृष्टि के कारण बाढ़ की विभीषिका का सामना करना पड़ता है। सितम्बर, 1997 की विकराल बाढ़ इसका उदाहरण थी।
  • ? भारत का नियाग्र? चचाई प्रपात के आसपास की भूमि समतल है। इस प्रपात को “भारत का नियाग्रा” भी कहा जाता है। यह सदियों का समय साक्षी है, जो नैसर्गिक सौन्दर्य की ऊंचाईयों का स्पर्श कर रहा है। पावस के मौसम में अगणित पर्यटक आँखों में इसकी सुन्दरता भरकर ले गये।
  • रीवा से चचाई तक जाने के लिए पक्की सड़क एवं ठहरने के लिए एक शासकीय विश्राम भवन है। चचाई मध्य प्रदेश के पर्यटन नक्शे पर महत्वपूर्ण स्थान रखता है। इसकी महत्ता को दृष्टिगत रखते हुए अभी इसके विकास की अनेक संभावनाएँ हैं। ‘पर्यटन विकास निगम’ की दृष्टि से यह एक उपेक्षित स्थान है। 

????⚜⚜⚜????

2. धुआंधार जलप्रपात

Image result for धुआंधार जलप्रपात

  • ? धुआँधार प्रपात मध्य प्रदेश के जबलपुर के निकट स्थित एक बहुत ही सुन्दर जल प्रपात है। भेड़ाघाट में जब नर्मदा नदी की ऊपरी धारा विश्व प्रसिद्ध संगमरमर के पत्थरों पर गिरती है, तो जल की सूक्ष्म बूँदों से एक धुएँ जैसा झरना बन जाता है, इसी कारण से इसका का नाम ‘धुआंधार प्रपात’ रखा गया है।
  • ? यह प्रपात नर्मदा नदी का जल प्रपात है, जो भेड़ाघाट जबलपुर से 21 किलोमीटर की दूरी पर महेश्वर (खरगोन स्थित है
  • ? धुंआंधार प्रपात अपनी शांति और सुन्दर दृश्यावली से पर्यटकों का मन मोह लेता है। इसका जल लगभग 18 मीटर की ऊँचाई से गिरता है।
  • ? धुआंधार जलप्रपात से जल गिरने की गति बहुत ही तेज़ है। इस प्रपात की गर्जना दूर-दूर तक सुनी जा सकती है।
  • ? इस आकर्षक जल प्रपात में जल की नन्हीं बूँदें बिखरकर धुँए का दृश्य बना देती हैं।इसलिए इसे ‘धुँआधार प्रपात’ के नाम से जाना जाता है।

????⚜⚜⚜????

3. कपिलधारा जलप्रपात

Image result for कपिलधारा जलप्रपात

?♨ कपिलधारा जलप्रपात नर्मदा कुंड से लगभग 8 कि॰मी॰ उत्तर-पश्चिम दिशा में श्री नर्मदा के उत्तर किनारे पर  अनूपपुर जिले में ‘कपिल धारा’ नामक जलप्रपात है| जिसकी जलधारा पहाड़ से लगभग 15 मीटर नीचे गिरती है|

?♨शास्त्रों के अनुसार श्री कपिल मुनि ने नर्मदा जी की धारा को रोकने का प्रयत्न किया था। विंध्य वैभव कथानुसार इसी स्थान पर कपिलमुनि जी को आत्म सक्षात्कार का दर्शन हुआ है !

?♨ प्राचीन जनश्रुतियों के अनुसार इसी स्थान पर कपिल मुनि नए संख्याशास्त्र की रचना की थी| यह स्थान परम रमणीय है और प्रकृतिक है और प्रकृतिक सौन्दर्य से भरपूर है | अमरकंटक आने वाले सैलानी इस स्थान पर पहुंचे बिना अपनी यात्रा अपूर्ण समझते है | यह जलप्रपात पर्यटक को को आकर्षित करता है ! यह अपनी अनुपम छटा बिखेरे हुए हैं !

????⚜⚜⚜????

4. दुग्ध धारा जलप्रपात

Image result for दुग्ध धारा जलप्रपात

?♨ दुग्ध धारा जलप्रपात नर्मदा नदी के उद्गम स्थल से से लगभग 100 कि॰मी॰ कि दूरी पर पश्चिम दिशा कि ओर अनूपपुर जिले में स्थित है दूधधारा नामक श्री नर्मदा जी का अद्वितीय जल प्रपात है। इसकी ऊंचाई 15 मीटर से कम है !

?♨यह घने वनों के मध्य अत्यंत मनोरम छटा उपस्थित करता है पुराणों मे ऐसा कहा गया है कि इस स्थान पर दुर्वासा ऋषि ने तपस्या कि थी। इसलिए इसका नाम “दुर्वासा धारा” पड़ा परंतु कालांतर मे इसका अपभ्रंस रूप दूध धारा के रूप मे प्रचलित हुआ।

?♨ दुग्ध धारा जलप्रपात के बारे में ऐसी जनश्रुति है कि श्री नर्मदा जी रीवा राज्य के किसी राजकुमार पर प्रसन्न होकर उन्हे दूध कि धारा के रूप मे दर्शन दी थी इसलिए इसका नाम दूध धारा पड़ा। दूसरी व्युतप्ति मे ऐसा कहा गया है कि नर्मदा जी का तेज प्रवाह पत्थ्ररो कि चट्टानों पर गिरकर दो धाराओं मे बहता है इसलिए इसका नाम स्थानीय नाम दू-धारा  पड़ा और कालांतर मे अपभ्रन्स के रूप मे दूध धारा के नाम से प्रचलित हो गया है।

????⚜⚜⚜????

5. सहस्त्रधारा जलप्रपात

?♨सहस्त्रधारा देहरादून से मात्र 16 किलोमीटर की दूरी jमहेश्वर (खरगोन) जिले मे राजपुर गांव के पास स्थित है। सहस्त्रधारा जलप्रपात नर्मदा नदी पर स्थित है यहां स्थित गंधक झरना त्वचा की बीमारियों की चिकित्सा के लिए प्रसिद्ध है। इसकी ऊंचाई 8 मीटर है !

?♨यह पूरी जगह अपने आप में एक अजूबा है। पहाड़ी से गिरते हुए जल को प्राकृतिक तरीके से संचित किया गया है। यहाँ से थोडी दूर एक पहाड़ी के अंदर प्राकृतिक रूप से तराशी हुई कई छोटी छोटी गुफाएँ है, जो बाहर से तो स्पष्ट रूप से दिखाई नहीं देती किंतु इन गुफा में जब प्रवेश करते है तो देखते हैं कि गुफाओं की छत से अविरत रिमझिम हल्की बारिश की बौछारें टपकती रहती है। बस यही सहस्त्रधारा है।

????⚜⚜⚜????

6. पवा जल प्रपात

♨?पवा जल प्रपात शिवपुरी जिले की पोहरी तहसील में स्थित है ! पवा जल प्रपात की दूरी शिवपुरी शहर से लगभग 40 किलोमीटर हैं और श्योपुर हाईवे से लगभग 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है !

?♨पवा झरना एक सुंदर झरना है। यहां भगवान शिव की भव्य मूर्ति है ! पवा कुंड की गहराई लगभग 500 फीट है ! कुंड के चारों ओर की पहाड़ियों इस जगह को बेहद खूबसूरत एवं आकर्षक बनाती है ! यह एक बहुत ही धार्मिक स्थल है !

????⚜⚜⚜????

7. भूरा खो जलप्रपात

♨? पूरा खो जलप्रपात मध्यप्रदेश के शहर शिवपुरी शहर से 10 किमी दूर स्थित प्राकृतिक झरना भूरा खो एक छोटा लेकिन सुंदर झरना है ! भूरा खो में 25 फीट का आकर्षक झरना है जिसका पानी नीचे कुंड में गिरता है !

?♨ यह माधव सागर झील के पास स्थित है ! भूरा खो आगंतुकों के लिए एक मनोरंजन केंद्र है ! भूरा खो झरने पर भगवान् शिव की प्राचीन प्रतिमा स्थापित है ! यह झरना एक छोटी सी उचाई से गिरता है और पास ही नदी में विलीन हो जाता है ! भूरा खो शिवपुरी के तीन प्रसिद्ध झरनों में से एक है !

????⚜⚜⚜????

8. सुल्तानगढ़ जलप्रपात

?♨सुलतानगढ़ जलप्रपात मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले से 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है ! यह एक प्रसिद्ध और मनमोहक पर्यटन स्थल है !

?♨सुल्तान गढ़ जलप्रपात चट्टानी इलाके के बीच में स्थित एक प्राकृतिक झरना हैं ! पार्वती नदी इस झरने को खूबसूरती प्रदान करती है ! हरे भरे जंगलों से घिरा हुआ यह क्षेत्र सुल्तान गढ़ जलप्रपात को भव्यता प्रदान करता है ! 

?♨सुल्तान गढ़ जलप्रपात के आगंतुक पर्यटकों के अनुसार यह जलप्रपात बेहद ही खूबसूरत और सुखदायक है ! सुल्तान गढ़ जलप्रपात और इसके आसपास का क्षेत्र एक प्रकृति प्रेमी की आँखों के लिए एक दावत स्वरुप है ! यहाँ पर्यटकों को सूर्यउदय एवं सूर्यास्त के समय ज्वलंत रंगों के साथ क्षितिज में सूर्य को देखना बेहद खूबसूरत लगेगा !

????⚜⚜⚜????

9. राहतगढ़ जलप्रपात

?♨राहतगढ़ जलप्रपात  मध्य प्रदेश प्रदेश मे स्थित एक जलप्रपात है। राहतगढ़ का सुंदर जलप्रपात सागर-भोपाल मार्ग पर करीब 50 किमी दूर स्थित है !

?♨राहतगढ़ जलप्रपात कस्बा वॉटरफॉल के कारण अब एक बेहद लोकप्रिय पिकनिक स्पॉट है। बीना नदी के किनारे पर स्थित है सागर के स्थानीय निवासी वर्षा-ऋतु में यहाँ छुट्टी के दिन समय बिताने के लिए बड़ी संख्या में जाते हैं। शहर के आस-पास ऐसे स्थलों का अभाव होने के कारण यह पिकनिक मनाने का अत्यंत लोकप्रिय स्‍थान है।

????⚜⚜⚜????

10. पातालपानी जलप्रपात

?♨पातालपानी जलप्रपात मध्य प्रदेश राज्य के इंदौर जिले के महू तहसील में स्थित है। पातालपानी जलप्रपात चंबल नदी पर स्थित है झरना लगभग 300 फीट ऊंचा है। पातालपनी के आसपास का क्षेत्र एक लोकप्रिय पिकनिक और ट्रेकिंग स्पॉट है।

?♨ पातालपानी जलप्रपात पर बारिश के मौसम (आमतौर पर जुलाई के बाद) के बाद पानी का प्रवाह सबसे अधिक होता है। यह गर्मियों के मौसम में लगभग सूखा जाता है, और धारा एक बिल्कुल में कम हो जाती है।

????⚜⚜⚜????

11. डचेस जलप्रपात

?♨डचेस जलप्रपात  पचमढ़ी का एक सुंदर जलप्रपात (झरना) है। यह खूबसूरत झरना तीन अलग अलग जलप्रपात बनाता है। इसके आधार तक पहुँचने के लिए आपको 4 किमी. तक पैदल चलना पड़ता है। प्रपात लगभग सौ मीटर की ऊंचाई से गिरता है और गिरते हुए सुंदर कलकल की आवाज़ करता है।

?♨पर्यटक इन छोटे कुंडों में आराम से तैर सकते हैं और नहा सकते हैं। डचेस जलप्रपात सबसे सुंदर जल प्रपातों में से एक है जिसका उद्भव सतपुड़ा से होता है। वे लोग जिन्हें फोटोग्राफी का शौक है उन्हें डचेस जलप्रपात की सैर अवश्य करनी चाहिए।

????⚜⚜⚜????

12. केवटी जलप्रपात

?♨ केवटी जलप्रपात बीहड़ नदी पर मध्य प्रदेश के रीवा जिले के नईगढ़ी तहसील पर स्थित है !इसका स्थान भारत के जलप्रपातो मे 24 वा है

?♨रीवा जिले के बेहद खूबसूरत बहुती जलप्रपात मुख्य पर्यटन स्थल है। लोग अब नईगढ़ी के बहुती जलप्रपात की ओर भी रूख करने लगे हैं।

????⚜⚜⚜????

13. अप्सरा जलप्रपात

?♨अप्सरा जलप्रपात  मध्य प्रदेश की सतपुड़ा पर्वतश्रेणियोंमें प्रसिद्ध पर्यटन स्थल  है। यह पचमढ़ी में स्थित है !

?♨पांडव गुफ़ा के साथ ही ‘अप्सरा (विहार)’ या ‘परी ताल’ के लिए मार्ग जाता है, जहां पैदल चलकर ही पहुंचा जा सकता है। यह तालाब एक अप्सरा जलप्रपात (झरने) से बना है, जो 30 फीट ऊंचा है। अधिक गहरा न होने की वजह से यह तालाब तैराकी और ग़ोताख़ोरी के लिए बिल्कुल उपयुक्त है। इस तालाब को पंचमढ़ी का सबसे सुन्दर ताल माना जाता है।

????⚜⚜⚜????

14. पुरवा जलप्रपात

?♨पुरवा झरना 70 मी. ऊँचा है और मध्य प्रदेश के रीवाक्षेत्र में स्थित है। यह एक प्रसिद्ध झरना है और पूरे जिले में सबसे अच्छे पर्यटन स्थलों में से एक है। यह सारा क्षेत्र प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर होने के कारण सालभर पर्यटक और स्थानीय लोग यहाँ आते रहते हैं।

?♨पुरवा जलप्रपात के रीवा के पठार से उत्तर दिशा में नीचे की ओर गिरने के कारण इस झरने के लिए पानी का मुख्य स्रोत टोंस नदी है। यह जगह एक बेहतरीन पिकनिक स्थल है और सर्दियों के दौरान यह जगह पिकनिक पार्टियों से भरा रहता है।

?♨इस जगह का उल्लेख हिंदु पौराणिक कथाओं में किया गया है।यह जगह प्रसिद्ध चित्रकूट पहाडियों के नीचे है। इस जगह आने का सबसे अच्छा समय मार्च से मई महीनों के बीच का होता है क्योंकि तब मौसम ठंडा होता है और झरना बहुत सुंदर लगता है।

????⚜⚜⚜????

15. भालकुंड जलप्रपात

?♨भालकुंड जलप्रपात मध्य प्रदेश के सागर जिले राहतगढ़ में (बेतवा की सहायक नदी) बीना नदी पर स्थित है !

?♨ भाल कुंड जलप्रपात की ऊंचाई 38 मीटर है यह पर्यटकों के लिए आकर्षण का प्रमुख केंद्र है !

????⚜⚜⚜????

16. बेहोली जलप्रपात

?♨बेहोली जलप्रपात रीवा के निकट हनुमना तहसील में गोरमा नदी पर है तथा हनुमना कस्बा से 15 किलोमीटर की दूरी पर बिल्कुल मैदानी भूमि में स्थित है।

?♨बैलोही जलप्रपात देखने में हरा प्रतीत होता है। जो डरावना भी लगता है। इस प्रपात को चारों दिशाओं में घूमकर एवं परिवर्तित की परिक्रमा कर देखा जा सकता है। जब गोरमा नदी में बाढ़ आ जाती है तो यहाँ का दृश्य बड़ा मनोरम लगता है। यहाँ प्रतिवर्ष जनवरी में मकर संक्रांति पर एक मेला भी लगता है।

????⚜⚜⚜????

17. पांडव जलप्रपात

?♨पांडव जलप्रपात पन्‍ना शहर से लगभग 12 किमी. की दूरी पर स्थित है और राष्‍ट्रीय पार्क के बहुत नजदीक स्थित है। राष्‍ट्रीय राजमार्ग से इस स्‍थल तक पहुंचना काफी आसान है। यह झरना, यहां के एक स्‍थानीय स्प्रिंग्‍स से उत्‍पन्‍न हुआ है और पन्‍ना के पर्यटएन स्थल है !

?♨यह झरना, साल के सभी दौर में बहता रहता है और मानसून के दौरान यह झरना पूरी तरह से भर जाता है। यह झरना लगभग 100 फीट की ऊंचाई से गिरता हुआ एक पूल में आ जाता है।

?♨झरने के पास में ही पांडव गुफाएं स्थित है, जिनके बारे में कहा जाता है कि पांडवों ने अपने निर्वासन के दौरान यहीं शरण ली थी और काफी समय गुजारा था। यह जगह, गुफाओं और झरनों से घिरी होने के कारण स्‍थानीय लोगों और पर्यटकों के बीच एक प्रसिद्ध पिकनिक स्‍पॉट है।

???????????

?♨ मध्य प्रदेश के अन्य छोटे जलप्रपात ♨?
?????

?केदारनाथ जलप्रपात?
?♨ केदारनाथ जलप्रपात मध्यप्रदेश के अरावली श्रृंखला में स्थित है

?मंधार जलप्रपात?
?♨ मंधार जलप्रपात मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में नर्मदा नदी पर स्थित है !

?पियावन जलप्रपात?
?♨पियावन जलप्रपात मध्य प्रदेश के रीवा जिले के निकट स्थित है !

? दर्दी जलप्रपात ?
?♨ दर्दी जलप्रपात मध्य प्रदेश के खंडवा जिले मैं नर्मदा नदी पर स्थित है !

? झाड़ी दाहा जलप्रपात ?
?♨ झाड़ी दाहा जलप्रपात मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में स्थित है झाड़ी दाहा जलप्रपात चंबल नदी पर है !

? व्ही फॉल जलप्रपात ?
?♨व्ही फॉल जलप्रपात मध्य प्रदेश के सतपुड़ा राष्ट्रीय उद्यान में स्थित है !

????????

Play Quiz 

No of Questions- 18

0%

Q.1 दतिया नगर कौन सी नदी के किनारे पर बसा हुआ है ?

Correct! Wrong!

Q.2 चचाई जलप्रपात की ऊंचाई कितनी है ?

Correct! Wrong!

Q.3 ग्रेटर गंगऊ बांध किस नदी पर स्थित है ?

Correct! Wrong!

Q.4 मध्यप्रदेश में कपास अनुसंधान केंद्र कहां पर स्थित है ?

Correct! Wrong!

Q.5 मध्य प्रदेश की चोरल नदी परियोजना से मध्य प्रदेश का कौन सा जिला लाभान्वित होता है ?

Correct! Wrong!

Q.6 मध्य प्रदेश राजकीय पशु बारहसिंगा जो ब्रेडरी हिरण प्रजाति का किस राष्ट्रीय उद्यान में पाया जाता है ?

Correct! Wrong!

Q.7 वन्य प्राणी संरक्षण हेतु प्रशिक्षण की व्यवस्था किस राष्ट्रीय उद्यान में की गई है ?

Correct! Wrong!

Q.8 मध्य प्रदेश में प्रथम खनिज नीति कब घोषित हुई ?

Correct! Wrong!

Q.9 कोलार परियोजना मध्यप्रदेश के किस जिले मै स्थित हैं ?

Correct! Wrong!

Q.10 चैनपुरा ओधोगिक विकास केन्द्र कोंन से जिले मै स्थित है?

Correct! Wrong!

प्रश्न 11- यह मध्यप्रदेश का सबसे ऊँचा जलप्रपात हैं ?

Correct! Wrong!

प्रश्न 12- सिल्वर जलप्रपात के नाम से भी जाना जाने वाला जलप्रपात स्थित है ?

Correct! Wrong!

प्रश्न 13- झाड़ी दाहा जलप्रपात से सम्बंधित नदी है ?

Correct! Wrong!

प्रश्न 14- निम्नलिखित में से होशंगाबाद जिले में स्थित जल प्रपात है ?

Correct! Wrong!

प्रश्न 15- शंकरखो जल प्रपात से सम्बंधित है ?

Correct! Wrong!

Q16.केवटी जल प्रपात का उद्गम स्थान है?

Correct! Wrong!

Q17.झा डी दाही जल प्रपात किस नदी पर है ?

Correct! Wrong!

Q18.बहुटी जल प्रपात किस नदी पर है ?

Correct! Wrong!

Madhya Pradesh main waterfall Quiz ( मध्यप्रदेश के प्रमुख जलप्रपात )
VERY BAD! You got Few answers correct! need hard work.
BAD! You got Few answers correct! need hard work
GOOD! You well tried but got some wrong! need more preparation
VERY GOOD! You well tried but got some wrong! need preparation
AWESOME! You got the quiz correct! KEEP IT UP

Share your Results:

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

विष्णु गौर सीहोर, मध्यप्रदेश, रंजना जी सोलंकी,बड़वानी, कृष्णा जी व्यावर