Madhya Pradesh Rivers ( मध्यप्रदेश की नदियां )

किसी भी राज्य की सभ्यता संस्कृति एवं आर्थिक विकास में नदियों का महत्वपूर्ण योगदान रहता है मध्य प्रदेश की नदियां सिंचाई जल विद्युत उत्पादन, मत्स्य उत्पादन,जल विद्युत, परिवहन एवं व्यापार में अपना महत्वपूर्ण योगदान देती आ रही है !

प्राचीन काल में अनेक धार्मिक सांस्कृतिक एवं व्यापारिक केंद्र नदियों के किनारे स्थापित किए जाते थे मध्य प्रदेश की नदियों को दो वर्गों में विभाजित किया जा सकता है !  एक वे जो केवल वर्षा ऋतु में जल से भर जाती है परंतु लंबी ग्रीष्म ऋतु में सूख जाती है दूसरी भेजो वर्षपर्यंत जल से परिपूरित रहते हैं और राज्य को सिंचाई परिवहन पर्यटन मत्स्य पालन आदि में सहायता प्रदान करती हैं !

मध्यप्रदेश की प्रमुख नदियों में नर्मदा, चंबल, सोन, ताप्ती, सिंध या काली सिंध, बेतवा पार्वती, केन, टोंस एवं तवा नदी है यह नदियां राज्य के विभिन्न दिशाओं में प्रवाहित होती है !

1. नर्मदा नदी 

Image result for नर्मदा नदी 

नर्मदा नदी प्रायद्वीपीय भारत की एक महत्वपूर्ण नदी है इसे मध्य प्रदेश की जीवनरेखा भी कहते हैं प्रख्यात भूगोलवेत्ता टॉलमी ने इसे नामादोस कहा है ! इसके अन्य प्रमुख नाम मेकल,सुता,सोमोदेवी तथा रेवा हैँ ! इसे मध्यप्रदेश की गंगा भी कहा जाता है !

नर्मदा नदी भारत की पांचवी बड़ी नदी है यह गंगा के समान पवित्र मानी जाती है यह नदी 1312 किलोमीटर लंबी है और मध्य प्रदेश में 1077 किलोमीटर बहती है इसका अपवाह क्षेत्र 93180 वर्ग किलोमीटर है नर्मदा के बेसिन का 89.9% प्रतिशत भाग मध्य प्रदेश में वोट 10.1% गुजरात राज्य में है !

नर्मदा नदी का उद्गम स्थल

नर्मदा नदी मध्यप्रदेश के (अमरकंटक) अनूपपुर जिले में विंध्याचल और सतपुड़ा पर्वत श्रेणियों के पूर्वी संधिस्थल पर स्थित सबसे उंची चोटी अमरकंटक के नर्मदा कुंड से हुआ है। नदी पश्चिम की ओर सोनमुद से बहती हुई, एक चट्टान से नीचे गिरती हुई कपिलधारा नाम की एक जलप्रपात बनाती है।

नर्मदा घाटी परियोजना

नर्मदा का उत्तरी भाग सिंचाई एवं नौकायन योग्य नहीं है इस नदी के जल के उपयोग की योजना में मध्यप्रदेश में इंदिरा सागर परियोजना और गुजरात में सरदार सरोवर बांध का निर्माण किया गया है !

  • रानी अवंती बाई सागर बरगी परियोजना नर्मदा नदी पर है यह मध्य प्रदेश के जिले जबलपुर बिजोरा में स्थित है !
  • नर्मदा नदी की सरदार सरोवर परियोजना में गुजरात राजस्थान मध्यप्रदेश महाराष्ट्र संयुक्त रुप से सम्मिलित हैं !
  • इंदिरा गांधी नर्मदा सागर परियोजना मध्य प्रदेश के खंडवा जिले के पुनासा में पर बनाई गई है !
  • नर्मदा नदी पर 29 बड़ी 135 माध्यम पर 3000 छोटी योजनाएं बनाई गई हैं इस नदी की सहायक नदियों पर भी बांध निर्माण किया गया है !
  • नर्मदा मे बाएं तट पर मिलने वाली तट पर मिलने वाली नदियां? नर्मदा नदी के बाएतट पर मिलने वाली प्रमुख नदियों में वरनार,बंजर, शेर,शक्कर, दुधी,दवा, गजाल,दोटी तवा कुंनदी, देव और गोई है !
  • नर्मदा नदी में दाएं तट पर मिलने वाली नदियां? नर्मदा नदी में दाएं तट पर हिरण,तिनदोनी,बरना, चंद्रकेश्वर कानर,मान,उटी एवं हथनी नदिया मिलती है !

नर्मदा घाटी

संगमरमर चट्टानों से निकलते हुए नदी अपनी पहली जलोढ़ मिट्टी के उपजाऊ मैदान में प्रवेश करती है, जिसे “नर्मदाघाटी” कहते हैं। जो लगभग 320 किमी तक फैली हुई है, यहाँ दक्षिण में नदी की औसत चौड़ाई 35 किमी हो जाती है। वही उत्तर में, बर्ना-बरेली घाटी पर सीमित होती जाती है जो की होशंगाबाद के बरखरा पहाड़ियों के बाद समाप्त होती है। हालांकि, कन्नोद मैदानों से यह फिर पहाड़ियों में आ जाती हैं।

यह नर्मदा की पहली घाटी में है, जहां दक्षिण की ओर से कई महत्वपूर्ण सहायक नदियाँ आकर इसमें शामिल होती हैं और सतपुड़ा पहाड़ियों के उत्तरी ढलानों से पानी लाती हैं। जिनमे: शार, शाककर, दधी, तवा(सबसे बड़ी सहायक नदी) और गंजल साहिल हैं। हिरन, बरना, चोरल , करम और लोहर, जैसी महत्वपूर्ण सहायक नदियां उत्तर से आकर जुड़ती हैं।

नर्मदा नदी काघुमावदार मार्ग और प्रबल वेग के साथ घने जंगलो और चट्टानों को पार करते हुए रामनगर के जर्जर महल तक पहुँचती हैं। आगे दक्षिण-पूर्व की ओर, रामनगर और मंडला (25 किमी (15.5 मील) के बीच, यहाँ जलमार्ग अपेक्षाकृत चट्टानी बाधाओं से रहित सीधे एवं गहरे पानी के साथ है।

बंजर नदी बाईं ओर से जुड़ जाता है।नदी आगे एक संकीर्ण लूप में उत्तर-पश्चिम में जबलपुर पहुँचती है। शहर के करीब, नदी भेड़ाघाट के पास करीब 9 मीटर का जल-प्रपात बनाती हैं जो की धुआँधार के नाम से प्रसिद्ध हैं !

नर्मदा नदी हंडिया और नेमावार से नीचे हिरन जल-प्रपात तक, नदी दोनों ओर से पहाड़ियों से घिरी हुई है। इस भाग पर नदी का चरित्र भिन्न है। ओमकारेश्वर द्वीप, जोकि भगवान शिव को समर्पित हैं, मध्य प्रदेश का सबसे महत्वपूर्ण नदी द्वीप है।

सिकता और कावेरी, खण्डवा मैदान के नीचे आकर नदी से मिलते हैं। दो स्थानों पर, नेमावर से करीब 40 किमी पर मंधार पर और पंसासा के करीब 40 किमी पर ददराई में , नदी लगभग 12 मीटर की ऊंचाई से गिरती है।

नर्मदा नदी बरेली के निकट कुछ किलोमीटर और आगरा-मुंबई रोड घाट, राष्ट्रीय राजमार्ग 3, से नीचे नर्मदा मंडलेश्वर मैदान में प्रवेश करती है, जो कि 180 किमी लंबा है। बेसिन की उत्तरी पट्टी केवल 25 किमी है। यह घाटी साहेश्वर धारा जल-प्रपात पर जा कर ख़त्म होती है।

मध्य प्रदेश के नगर मकरई के नीचे, नदी बड़ोदरा जिले और नर्मदा जिला,के बीच बहती है और फिर गुजरात राज्य के भरूच जिला के समृद्ध मैदान के माध्यम से बहती है। यहाँ नदी के किनारे, सालो से बाह कर आये जलोढ़ मिट्टी, गांठदार चूना पत्थर और रेत की बजरी से पटे हुए हैं। यह नदी की चौड़ाई मकराई पर लगभग 1.5 किमी भरूच के पास और 3 किमी तथा कैम्बे की खाड़ी के मुहाने में 21 किमी तक फैली हुई है।

नर्मदा नदी पर स्थित प्रमुख दर्शनीय स्थल

नर्मदा नदी पर स्थित कपिलधारा, दुग्धधारा, सहस्त्रधारा, व भेडाघाट जलप्रपात मुख्य दर्शनीय स्थल हैं !

नर्मदा नदी के किनारे बसे प्रमुख नगर

नर्मदा नदी के किनारे बसा शहर जबलपुर उल्लेखनीय है। इस नदी के मुहाने पर डेल्टा नहीं है। जबलपुर के निकट भेड़ाघाट का नर्मदा जलप्रपात काफी प्रसिद्ध है। इस नदी के किनारे अमरकंटक, नेमावर, गुरुकृपा आश्रम झीकोली, शुक्लतीर्थ आदि प्रसिद्ध तीर्थस्थान हैं जहाँ काफी दूर-दूर से यात्री आते रहते हैं। नर्मदा नदी को ही उत्तरी और दक्षिणी भारत की सीमारेखा माना जाता है। नर्मदा नदी के किनारे बसे शहर होशंगाबाद बड़वाह महेश्वर ओमकारेश्वर आदि हैं !

हरे खेत कछार वन माँ तुम्हारे वरदान से
यह तपस्या भूमि चर्चित फलद गुणप्रद ज्ञान से
पूज्य शिव सा तट तुम्हारे पड़ा हर पाषाण है
माँ तुम्हारी तरंगो में तरंगित कल्याण है  !
माँ नर्मदे !

2. चंबल नदी

Image result for चंबल नदी

यह मध्य प्रदेश की दूसरी सबसे बड़ी नदी है यह पश्चिमी मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण नदी है चंबल नदी का उद्गम राज्य में इंदौर जिले के मऊ तहसील की जनापाव पहाड़ी से हुआ है जो समुद्र तल से 854 मीटर की ऊंचाई पर है इस नदी की संपूर्ण लंबाई 965 किलोमीटर है इसका प्राचीन नाम धर्मावती (चर्मावती) था

यह नदी पहले उत्तर पूर्व की ओर राज्य के धार उज्जैन रतलाम इंदौर नीमच जिलों में बहती हुई राजस्थान के बूंदी कोटा सवाई माधोपुर करौली धौलपुर में आती है ! फिर पूर्वी भाग में बहती हुई इटावा के पास यह नदी 38 किलोमीटर दूर यमुना में मिल जाती है इस प्रकार यह यमुना नदी के दक्षिण की ओर से मिलने वाली प्रमुख सहायक नदी है !

चंबल नदी राजस्थान में कोटा सवाई माधोपुर जिले की सीमा के समीप मध्य प्रदेश के जिले श्योपुर मुरैना और भिंड जिलों की सीमा पर बहती है यह नदी भारत में उत्तर तथा उत्तर-मध्य भाग में राजस्थान तथा मध्य प्रदेश के धार,उज्जैन,रतलाम, मन्दसौर भीँड मुरैनाआदि जिलो से होकर बहती है। यह नदी दक्षिण मोड़ को उत्तर प्रदेश राज्य में यमुना में शामिल होने के पहले  यह मध्यप्रदेश एवं राजस्थान के बीच सीमा निर्धारित करती है यह मध्यप्रदेश में दो बार प्रवेश करती है !

यह एक बारहमासी नदी है। इसका यह दक्षिण में महू शहर के, इंदौर के पास, विंध्य रेंज में मध्य प्रदेश में दक्षिण ढलान से होकर गुजरती है।

चंबल और उसकी सहायक नदियां उत्तर पश्चिमी मध्य प्रदेश के मालवा क्षेत्र के नाले, जबकि इसकी सहायक नदी, बनास, जो अरावली पर्वतों से शुरू होती है इसमें मिल जाती है। चंबल, कावेरी, यमुना, सिन्धु, पहुज भरेह के पास पचनदा में, उत्तर प्रदेश राज्य में भिंड और इटावा जिले की सीमा पर शामिल पांच नदियों के संगम समाप्त होता है।

यह सिंचाई हेतु यह नदी अत्यंत उपयोगी है इसलिए इस पर गांधी सागर ,राणा प्रताप सागर एवं कोटा बांध बनाए गए हैं इन योजनाओं में राजस्थान में मध्यप्रदेश को जल विद्युत एवं सिंचाई सुविधा प्राप्त होती है ! जिनमें गांधी सागर राणा प्रताप सागर और कोटा बांध मुख्य है !

इन योजनाओं से मध्यप्रदेश और राजस्थान राज्य को जल विद्युत एवं सिंचाई हेतु जल प्राप्त होता है यह निधि मुरैना और भिंड जिले में बड़ी और गहरी खाईयो को बनाती है यहां के दुर्गम क्षेत्र डाकुओं के आश्रय स्थल बन गए हैं ! उत्तर प्रदेश में बहते हुए 995 किलोमीटर की दूरी तय करके यमुना नदी में मिल जाती है। चम्बल नदी का कुल अपवाह क्षेत्र 19,500 वर्ग किलोमीटर हैं ।

चंबल परियोजना
चंबल परियोजना राजस्थान में मध्य प्रदेश की संयुक्त परियोजना है चंबल नहर से भिंड मुरैना ग्वालियर मंदसौर-नीमच आदि जिलों में सिंचाई होती है !

  • चंबल नदी पर जल विद्युत परियोजना? राज्य की प्रथम जल विद्युत परियोजना गांधी सागर बांध (नीमच के निकट) तथा जवाहर सागर (कोटा राजस्थान) राणा प्रताप सागर (चित्तौड़गढ़ राजस्थान) जल विद्युत केंद्र प्रमुख है !
  • चंबल नदी के किनारे बसे प्रमुख नगर ? चंबल नदी के किनारे होशंगाबाद,जबलपुर, महेश्वर, महू,श्योपुर, रतलाम, मुरैना तथा ओमकारेश्वर, शहर स्थित है !
  • जलप्रपात? यह नदी कोटा मंडल में भैंसरोडगढ़ के निकट 18 मीटर ऊंचे जूलिया जल प्रपात बनाती है !

चंबल नदी की प्रमुख सहायक नदियां काली सिंध, सिन्ध, पार्वती और बनास की प्रमुख सहायक नदियां हैं !

3. सोन नदी

Related image

सोन नदी को स्वर्ण नदी भी कहते हैं यह मध्य प्रदेश की एक महत्वपूर्ण नदी है !  सोन नदी मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले में स्थित मेकल श्रेणी की अमरकंटक चोटी के निकट से हुआ है ! शीघ्र ही इसे पठार को पार कर नीचे उतरना पड़ता है 28 से अनेक जलप्रपात बन जाते हैं इस नदी की लंबाई 780 किलोमीटर लंबी है!

इसके जल का प्रभाव कुल क्षेत्रफल 17,900 वर्ग किलोमीटर है जिसका मध्य प्रदेश की सिंचाई मे अहम योगदान है ! सोन नदी की बाढ़ ने बड़ी ही आकस्मिक और विनाशकारी होती है प्रदेश के उत्तर पूर्व में बहती हुई यह नदी बिहार में रामनगर के पास गंगा नदी में मिल जाती है 1000 वर्ष पूर्व यह नदी गंगा में पटना के नीचे मिलती थी परंतु अत्यधिक कटाव क्षमता के कारण अब यह पटना से पहले रामनगर में ही गंगा से मिल जाती है !

सोन नदी मध्यप्रदेश के शहडोल सीधी उमरिया आदि जिलों में बहने के बाद यह उत्तर प्रदेश में प्रवेश करती है उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में बहती है ! जोहिला इसकी प्रमुख सहायक नदी है !

गंगा की सहायक नदियों में सोन का प्रमुख स्थान है। इस नदी का पानी मीठा, निर्मल और स्वास्थ्यवर्धक होता है। इसके तटों पर अनेक प्राकृतिक दृश्य बड़े मनोरम हैं। अनेक फारसी, उर्दू और हिंदी कवियों ने नदी और नदी के जल का वर्णन किया है। इस नदी में डिहरी-आन-सोन पर बाँध बाँधकर 296 मील लंबी नहर निकाली गई है जिसके जल से शाहाबाद, गया और पटना जिलों के लगभग सात लाख एकड़ भूमि की सिंचाई होती है।

यह बाँध 1874 ई. में तैयार हो गया था। इस नदी पर ही एक लंबा पुल, लगभग 3 मील लंबा, डिहरी-ऑन-सोन पर बना हुआ है। सोन नदी का दूसरा पुल पटना और आरा के बीच कोइलवर नामक स्थान पर है। कोइलवर पुल रेल-सह-सड़क पुल है। ऊपर रेलगाड़ियाँ और नीचे बस, मोटर और बैलगाड़ियाँ आदि चलती हैं।

सोन नदी पर एक तीसरा पुल भी ग्रैंड ट्रंक रोड पर बनाया गया है। 1965 ई. में यह पुल तैयार हो गया था। यह नदी शांत रहती है। इसका तल अपेक्षया छिछला है और पानी कम ही रहता है पर बरसात में इसका रूप विकराल हो जाता है, पानी मटियाले रंग का, लहरें भयंकर और झाग से भरी हो जाती हैं। तब इसकी धारा तीव्र गति और बड़े जोर शोर से बहती है।

सोन नदी परियोजना? बाण सागर (मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार संयुक्त) का प्रमुख बांध है रीवा उमरिया के निकट देवलोद में बनाया गया है !

Play Quiz 

No of Questions-30 

0%

Q.1 कोलार परियोजना से मध्यप्रदेश का कौनसा जिला लाभान्वित होता है ?

Correct! Wrong!

Q.2 मध्यप्रदेश में भांडेर नहर कौन सी नदी पर स्थित है ?

Correct! Wrong!

Q.3 मंदसौर कौन सी नदी के तट पर बसा है ?

Correct! Wrong!

Q.4 कपिलधारा जलप्रपात ऊंचाई कितनी है ?

Correct! Wrong!

Q.5 देश के कुल सोयाबीन का मध्यप्रदेश कितने प्रतिशत उत्पादित करता है ?

Correct! Wrong!

Q.6 मध्य प्रदेश को कितने कृषि प्रदेशों में बांटा गया है ?

Correct! Wrong!

Q.7 मध्य प्रदेश का एकमात्र टंगस्टन उत्पादक जिला कौन सा है ?

Correct! Wrong!

Q.8 चूने की नगरी के नाम से मध्यप्रदेश का कौनसा जिला प्रसिद्ध है ?

Correct! Wrong!

Q.9 मध्य प्रदेश में सफेद संगमरमर कहां से प्राप्त होता है ?

Correct! Wrong!

Q.10 पन्ना राष्ट्रीय उद्यान मध्यप्रदेश के किस जिले में स्थित है ?

Correct! Wrong!

Q.11 किस राष्ट्रीय उद्यान का नाम बदलकर इंदिरा प्रियदर्शनी राष्ट्रीय उद्यान कर दिया गया है जिसे "मोगली लैंड" बनाया जा रहा है ?

Correct! Wrong!

Q.12 पर्यावरण प्रदूषण को दूर करने हेतु मध्यप्रदेश में सामाजिक वानिकी योजना कब से प्रारंभ की गई है ?

Correct! Wrong!

Q.13 N.C.A. क्या है ?

Correct! Wrong!

Q.14 निम्न में से कौन सा एक पारंपरिक स्त्रोत है ?

Correct! Wrong!

Q.15 रेगुर किस मिट्टी को कहा जाता है ?

Correct! Wrong!

Q.16 मध्यप्रदेश राज्य में कितने प्रतिशत सिंचाई नहर और नलकूप के माध्यम से होती हैं ?

Correct! Wrong!

Q.17 बावन थड़ी परियोजना किन राज्यों की संयुक्त परियोजना हैं ?

Correct! Wrong!

Q.18 सुक्ता परियोजना किस नदी पर हैं ?

Correct! Wrong!

Q.19 मध्यप्रदेश के बोए गए क्षेत्र में कितने प्रतिशत भाग पर सिचाई होती हैं ?

Correct! Wrong!

Q.20 मध्यप्रदेश राज्य में कितने प्रतिशत सिंचाई तालाबों द्वारा होती हैं ?

Correct! Wrong!

Q21.तालाबों द्वारा सि चाई किस जिलों में होती है ?

Correct! Wrong!

Q22.जोबट सिंचाई परियोजना किस नदी पर है ?

Correct! Wrong!

Q23.शत प्रतिशत विद्युतीकृत कोन सा जिला है ?

Correct! Wrong!

Q 24.कोन सि नदी मालवा की गंगा है ?

Correct! Wrong!

Q 25 राज्य में सबसे पहली नहर कब व कोन से जिले में बनाई गई ?

Correct! Wrong!

Q26.सर्वाधिक पवन चक्की कोन से जिले में है ?

Correct! Wrong!

Q 27.शासकीय नहरों से कितने प्रतिशत सिंचाई होती है ?

Correct! Wrong!

Q 28 केन नदी कोन सि नदी में समाहित होती है ?

Correct! Wrong!

Q29. पृथवी पर कितने % पर जल पाया जाता है ?

Correct! Wrong!

Q 30 . विशव जल कब मनाया जाता है ?

Correct! Wrong!

Madhya Pradesh Rivers Quiz 01 ( मध्यप्रदेश की नदियां )
VERY BAD! You got Few answers correct! need hard work.
BAD! You got Few answers correct! need hard work
GOOD! You well tried but got some wrong! need more preparation
VERY GOOD! You well tried but got some wrong! need preparation
AWESOME! You got the quiz correct! KEEP IT UP

Share your Results:

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

विष्णु गौर सीहोर, मध्यप्रदेश, आदित्य जी बघेल,सिवनी, रंजना जी सोलंकी, बड़वानी, मुकेश जी लोधी, विदिशा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *