गाँधी युग (1919- 1947)

गांधी जी 24 वर्ष की उम्र में 1893 में दादा अब्दुल्ला नामक एक गुजराती व्यपारी का मुकदमा लड़ने के लिए दक्षिण अफ्रीका के डरबन गए। वहां “नवल भारती कांग्रेस” का गठन किया। गांधी की ने टॉलस्टॉय फार्म की स्थापना की जो बाद में गांधी आश्रम बन गया।

गांधी की 46 वर्ष की उम्र में जनवरी 1915 ई को भारत लौट आए। 1916 ई में अहमदाबाद के पास साबरमती आश्रम की स्थापना की। गांधी जी ने सत्याग्रह का पहला प्रयोग बिहार के चंपारण जिले में 1917 ई में किया। यह नील की खेती से संबंधित था।

1918 में गांधी जी ने अहमदाबाद के मिल मजदूरो के पक्ष में आंदोलन किया। 1918 ई में गुजरात के खेड़ा जिले के किसानो की मदद से आंदोलन किए।

रोलेट एक्ट 

रोलेट की अध्यक्षता में एक कमेटी ने दो विधेयक बनाएं जिसे रोलेट बिल नाम दिया। रोलेट एक्ट एक काला कानून था, जिसका उद्देश्य था कोई वकील नहीं, कोई अपील नहीं, कोई दलील नहीं।

फरवरी 1919 में गाँधी जी ने सत्याग्रह सभा बनाई। 13 अप्रैल 1919 को रबैसाखी के दिन सैफूदीन की और डॉ सत्यपाल के गिरफ्तारी की विरोध में लोग जलियांवाला बाग में जमा हुए। जनरल डायर ने निहत्थे लोंगो पर गोलियां चलाई। जिसमें 379 लोग मारे गए।

रविन्द्र नाथ टैगोर ने इस कांड के विरोध स्वरूप अपनी नाइटहुड की उपाधि लौटा दी।

साइमन कमीशन 

1919 के भारत शासन अधिनियम के प्रावधानों के सफलता एवं असफलता की जाँच के लिए एक कमीशन का गठन होना था।  नवंबर 1927 को ब्रिटिश सरकार ने इंडियन स्टेट्यूटरी कमीशन का गठन किया। इसकी अध्यक्षता साइमन ने की।  इसके विरोध के कारणों में पहला कारण यह था कि कमीशन का गठन 2 वर्ष पूर्व कर दिया गया।

इस कमीशन के सभी सदस्य अंग्रेज थे।  3 फरवरी 1928 को साइमन कमीशन बम्बई पहुंचा।

क्रिप्स मिशन 

मार्च 1942 में कैबिनेट मंत्री स्टेफर्ड क्रिप्स के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल भारत भेजा गया। युद्ध समाप्ति के बाद सविधान सभा का प्रस्ताव दिया गया। महात्मा गांधी जी ने इसे “उत्तरतिथिय चेक” कहा।

National Movement-Gandhi Leadership Important Question-

गाँधी जी ने भारत छोड़ो आंदोलन शुरू करने के वक्त जनसाधारण को करो या मारो का नारा दिया था,उन्हें गिरफ्तार कर किस जेल में रखा गया था-  आगा खां पैलेस

भारत छोड़ो आंदोलन स्वतंत्रता संघर्ष का प्रथम आंदोलन था,जो नेतृत्व विहीनता कि स्थिति में चलता रहा,इस आंदोलन को हम और किस नाम से जानते है- अगस्त क्रांति

9 अगस्त 1942(भारत छोडों आंदोलन में )को सरकार ने सभी प्रमुख नेताओं को गिरफ्तार कर लिया,उन्होंने इस कार्य को किस ऑपरेशन की संज्ञा दी- ऑपरेशन जीरो पॉवर

सविनय अवज्ञा आंदोलन के दौरान किसने पश्चिमोत्तर भारत की लाल कुर्ती का नेतृत्व किया- खां अब्दुल गफार खान

 

Play Quiz 

No of Questions-15

[wp_quiz id=”3521″]

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

P K Nagauri, चित्रकूट जी, प्रभुदयाल मूण्ड चूरु, PKGURU,  Jyoti Prajapati

Leave a Reply

Your email address will not be published.