pH ( pouvoir hydrogène ) : General Science Notes

भूमिका = जैसा कि हम सब जानते हैं कि पीएच 0 से 14 तक होता है PH 7 पर पदार्थ का व्यवहार उदासीन हो जाता है अर्थात ना वह एसिड रहता है नहीं क्षार जैसे-जैसे PH 7 से कम होता जाता है वैसे वैसे अम्लता बढ़ती जाती है जैसे-जैसे मान 7 से ऊपर बढ़ता जाता है पदार्थ क्षारीय होता जाता है

पीएच क्या होता है ( What is pH ? )

पीएच को पावर ऑफ हाइड्रोजन / पोवियर हाइड्रोजन/ पोटेंज हाइड्रोजन कुछ भी कहा जा सकता है अरेनियस ne अम्ल क्षार की एक अवधारणा दी थी उसके अनुसार जो पदार्थ जल में घोलने पर हाइड्रोजन आयन / हाइड्रोनियम आयन देते हैं वह अम्ल होते हैं अतः पीएच अम्लों की माप है

परिभाषा = विलियन में घुले H+ /H3O+ की सांद्रता के ऋणात्मक लघुगणक को पीएच कहते हैं

दैनिक जीवन में पीएच का उपयोग ( Use of pH in daily life )

हम जानते हैं कि किसी अम्लीय पदार्थ का पीएच 7 से बहुत नीचे होता है यदि आप उसमें क्षार मिला दे तो उसका पी एच बढ़ने लगता है कुछ उदाहरण निम्नलिखित हैं

अम्लीय वर्षा के कारण मिट्टी का पीएच कम हो जाता है जिससे उसमें पौधे नहीं हो पाते हैं तब उसमें चुना डाला जाता है चुना अर्थात कैलशियम ऑक्साइड एक धात्विक ऑक्साइड है जो कि क्षार की भांति व्यवहार करता है और मिट्टी के पीएच को बढ़ा देता है क्योंकि पौधे सदैव 6.5 से 7.5 की रेंज की पीएच में ही अच्छे उगते हैं

मसूड़ों की किनारे पर जीवाणु भोजन को खाकर अमल बनाते हैं जिससे दांत के आसपास का पीएच कम हो जाता है और अम्ल के कारण दांतों में कैविटी हो जाती है कैविटी से बचने के लिए हम टूथपेस्ट करते हैं टूथपेस्ट और कुछ नहीं एक बेस है जो बैक्टीरिया द्वारा बनाए गए अम्ल को उदासीन करता है

जब हमें कोई इंसेक्ट बाईट कर लेता है तो वह हमारे अंदर फार्मिक अम्ल छोड़ देता है ऐसे में उस स्थान पर थोड़ा सा टूथपेस्ट लगा देते हैं अथवा किसी धातु से रगड़ देते हैं जिससे उसका कुछ अम्ल उदासीन हो जाता है और उस स्थान का पीएच घटने से बच जाता है

हमारे शरीर का पीएच सदैव नियत रहता है अर्थात हमारे शरीर में कुछ हल्का सा अम्लीय या क्षारीय पदार्थ चले जाने से शरीर का पीएच परिवर्तित नहीं होता ऐसा विलियन जिसमें थोड़ा सा क्षार या अम्ल मिला देने से विलयन का पीएच परिवर्तित नहीं होता है उसे बफर विलियन कहते हैं हमारे शरीर का रुधिर भी एक प्रकार का बफर विलियन है

प्रयोगशाला में बफर विलियन बनाने के लिए एक प्रबल अम्ल तथा उस अम्ल का लवण तथा दुर्बल क्षार अथवा प्रबल क्षार तथा उसका लवण और दुर्बल अम्ल का प्रयोग किया जाता है

पीएच मान निकालने / गणना करने की विधि =

PH= -log [H+]

यदि हाइड्रोजन आयन की सांद्रता दिया हो तो हाइड्रोजन आयन की सांद्रता के स्थान पर उसका मान रखकर लॉग टेबल से हल करके इसे निकाला जा सकता है उदाहरणार्थ

Q= एक विलियन में हाइड्रोजन आयन की सांद्रता 0.0001 मोल / लीटर है तो उस विलियन का पीएच क्या होगा

सलूशन = H आयन की सांद्रता 0.0001 मोल/लीटर है इसे ऐसे भी लिख सकते हैं हाइड्रोजन आयन की सांद्रता 10 की पावर – 4 मोल प्रति लीटर है

PH= -log [10 की पावर – 4]

PH= -[-4 log 10]

PH= 4×1
PH=4

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

चित्रकूट त्रिपाठी श्रीगंगानगर