Self-Confidence Importance ( आत्मविश्वास का महत्व )

किसी भी कार्य को शुरू करने के लिए हमें एक मोटिवेशन की जरूरत होती है जो हमें हर रोज एक नया कार्य करने की शक्ति देता है और हम भी प्रयास करते हैं 

अपनी बात कहने से पहले “”आत्मविश्वास'” के ऊपर कुछ लाइनें क्योंकि हमारे जीवन में चाहे हमारे पास कुछ हो या ना हो लेकिन “”आत्मविश्वास”” होगा तो हम कठिन से कठिन परिस्थितियों में भी विजय प्राप्त कर सकते हैं

मिटा दो मन के डर को, हासिल करो आत्म विश्वास को, जीत लो जमीं को, झुका दो आकाश को

हम सब अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए लगातार प्रयास करते रहते हैं लेकिन केवल प्रयास के द्वारा ही हमें सफलता प्राप्त नहीं हो सकती इसके लिए जरूरी है कि हमारे अंदर आत्मविश्वास का होना क्योंकि जब तक हमें अपने ऊपर आत्मविश्वास नहीं होगा तब तक हम कोई भी सफलता प्राप्त नहीं कर सकते चाहे आपकी हंड्रेड परसेंट तैयारी क्यों ना हो

जीवन में हर काम अपने आत्मविश्वास के बलबूते पर ही किया जाता है आत्मविश्वास के लिए हमारा सकारात्मक दृष्टिकोण का होना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि सकारात्मक दृष्टिकोण अगर हमारे अंदर नहीं होगा तो आत्मविश्वास तो दूर की बात है उसकी झलक भी हमारे अंदर नजर नहीं आएगी और जिसके कारण हम अपनी सफलता पूर्ण रूप से प्राप्त नहीं कर पाते हैं

जैसा कि आज वर्तमान समय में हो रहा है हम अंधाधुन तैयारी करते जा रहे हैं लेकिन सब तरह की बातें सुनने के बाद हम हमारे अंदर के आत्मविश्वास को डगमगा देते हैं हमें हमारे पर पूर्ण विश्वास नहीं होता है जिसका नतीजा हमें हमारे परीक्षा के परिणाम के रूप में देखना पड़ता है जो की सबसे बड़ी असफलता के रूप में दिखाई देता है

आत्मविश्वास एक मानसिक और आध्यात्मिक शक्ति है जिसके बलबूते पर हम कठिन से कठिन कार्य को स्वच्छता और सरलता से सिद्ध करके सफलता प्राप्त करते हैं

और जो इंसान अपने जीवन में अनेक विचारों को लेकर आगे बढ़ता है जैसे किसी कार्य के प्रति शंका चिंता डर वह इंसान कभी भी साधारण से कार्य को भी संभव नहीं कर सकता क्योंकि उसके अंदर जो बिना वजह के डर बैठा हुआ है वहां उसके आत्मविश्वास को दीमक की तरह खराब कर रहा है इसीलिए अपने ऊपर पूरा विश्वास करते हुए एक दृढ़ आत्मविश्वास पैदा कीजिए और आने वाले समय के लिए अपने आपको तैयार कीजिए फिर आप कठिन से कठिन परिस्थितियों में भी सफलता प्राप्त कर सकते हैं

हमने अक्सर देखा है कि कोई व्यक्ति 100 में से 99 काम अच्छे करता है लेकिन अगर एक काम उसका गलत हो जाता है तो हम तुरंत उसे नकारात्मक प्रतिक्रिया देते हैं और उसके अंदर जो आत्मविश्वास रहता है उस को ठेस पहुंचा देते हैं जिससे कि वह व्यक्ति अपने आप को कमजोर महसूस करने लगता है और धीरे-धीरे असफलता की ओर आगे बढ़ जाता है इसीलिए हम सभी का पहला कर्तव्य है कि जिस व्यक्ति में कार्य करने की क्षमता है उसे हमें और मोटिवेट करना चाहिए और उसके आत्मविश्वास में वृद्धि करनी चाहिए

आत्मविश्वास एक ऐसी शक्ति है जिसके बलबूते पर हम विपरीत परिस्थितियों में भी विजय प्राप्त कर सकते हैं लेकिन इसके लिए हमारे अंदर एक सकारात्मक विचार का होना आवश्यक है जो कार्य हम कर रहे हैं उस पर हमें पूर्ण रुप से विश्वास होना चाहिए कि वह सही है और हम एक सही दिशा में बढ़ रहे हैं तभी आप आत्मविश्वास के साथ कार्य कर सकते हैं और जो व्यक्ति आत्मविश्वास के साथ कार्य करता है उसके लिए उन्नति के मार्ग हमेशा हर समय खुले रहते हैं

वर्तमान समय की परिस्थितियां अगर आपको समझ में नहीं आ रही है या उन परिस्थितियों में आप अपने आप को नहीं डाल पा रहे हैं जिससे कि आपका मनोबल कमजोर पड़ रहा है तो आप अपने तरीके से कुछ भी कार्य करने का प्रयास करें कुछ नया सीखने का प्रयास अपने हिसाब से करें फिर आप देखिए कि आपके अंदर एक नया आत्मविश्वास और उपचार जागेगा जो आपको एहसास कराएगा ती में कुछ अलग और नया जानता हूं और हर असंभव कार्य को संभव कर सकता हूं

आज के समय में हर व्यक्ति के अंदर कोई ना कोई गुण अवश्य मौजूद होता है लेकिन वह अपने आत्मविश्वास के अभाव के कारण उन्हें प्रदर्शित नहीं कर पाता है इसीलिए आप अपने आत्मविश्वास के साथ अपने गुणों का प्रदर्शन कीजिए जिससे कि आपके व्यक्तित्व में भी निखार आएगा और आपका आत्मविश्वास भी बढ़ेगा कि आपके द्वारा किया गया कार्य सही है और आप एक सही दिशा की ओर अग्रसर हो रहे हैं

अंत में यही कहना चाहूंगी कि—- आप जो भी कार्य कर रहे हैं उस पर आपको पूर्ण विश्वास होना चाहिए कि वह सही है और सफलता की ओर बढ़ रहे हैं क्योंकि आपके कार्य पर सबसे पहले आपको पूर्ण विश्वास होना आवश्यक है उसी के बाद दूसरे का विश्वास हासिल करना चाहिए

जब आपको अपने कार्य पर पूर्ण विश्वास है तो आपके अंदर अपने आप आत्मविश्वास जागृत होगा और आप रोज नए नए कार्य करने के लिए प्रेरित होंगे क्योंकि आत्मविश्वास ही सफलता की सबसे बड़ी सिटी है जिस व्यक्ति के पास में आत्मविश्वास की सिढी है और जो लगातार प्रयास कर रहा है आत्मविश्वास के साथ वह कभी भी कहीं भी किसी भी कठिन मार्ग पर नहीं रुकेगा

कभी कभी हमारा आत्मविश्वास (Self Confidence) कम हो जाता है और हमें लगने लगता है कि अब हमसे कुछ भी अच्छा नही हो पायेगा। लेकिन हकीकत यह है कि हम जो चाहें वह कर सकते हैं, बस हमें अपने अंदर की शक्तियों (Inside Powers) को पहचानना होगा।

 

Specially thanks to Post Writer ( With Regards )

Mamta Sharma Kota 

Leave a Reply