Socrates and cartesian method Questions

सुकरात एवं कार्टिशियन विधि 

प्रश्न=1 सुकरात के दर्शन का उद्देश्य है-?
【अ】 अध्यात्मिक
【ब】 नैतिकता ✔
【स】 वार्तालाप
【द】 सद्गुण

प्रश्न=2- ज्ञान ही सद्गुण है सूक्ति का अर्थ है?
【अ】 अमृत ज्ञान व्यवहार से अधिक महत्वपूर्ण है
【ब】 नैतिक प्रबलन का विषय है
【स】 ज्ञान और सद्गुण संबंधित
【द】 सदाचार शुभ के ज्ञान पर आश्रित है ✔

प्रश्न=3 निम्नलिखित में से कौन सा सुकरात का मत है-?
【अ】 सद्गुण मानव के सहज वृत्त पर निर्भर है
【ब】 सद्गुण अनिवार्यता एवं बौद्धिक कर्मों से निकलता है ✔
【स】 सद्गुण की एकमात्र उपाधि ज्ञान है
【द】 एक विशेष आयुक्त परिपक्वता का परिणाम सत्ता है

प्रश्न=4 देकार्त की मृत्यु कहां हुई-?
【अ】 यूनान में
【ब】 तुरेन में
【स】 नीदरलैंड में ✔
【द】 जर्मनी में

प्रश्न=5 डिस्कोर्स ऑन मेथड- किन की पुस्तक है?
【अ】 सुकरात
【ब】 स्पिनोजा
【स】 देकार्त ✔
【द】 बेंथम

प्रश्न=6 देकार्त के दर्शन के किस श्रेणी में रखते हैं-?
【अ】 क्रिया प्रतिक्रिया बाद में
【ब】 बुद्धि वाद में ✔
【स】 आध्यात्मिक
【द】 अनुभव वादी

प्रश्न=7- संदेह की विधि का प्रयोग किसने किया?
【अ】 डेकार्ट 
【ब】 स्पिनोजा
【स】 सुकरात ✔
【द】 प्लेटो

प्रश्न=8 सर्वेश्वर वाद दार्शनिक है-?
【अ】 देकार्त
【ब】 स्पिनोजा ✔
【स】 सुकरात
【द】 अरस्तु

प्रश्न=9देकार्त किस प्रथम स्वयं सिद्ध सत्य पर पहुंचे वह है-?
【अ】 जगत का अस्तित्व
【ब】 ईश्वर का अस्तित्व
【स】 आत्मा का अस्तित्व ✔
【द】 उपयुक्त सभी

प्रश्न=10- डेकार्ट के अनुसार ईश्वर का प्रत्यय कैसा है?
【अ】 अवतार वादी
【ब】 कल्पना वादी
【स】 प्रतिष्ठा निष्ठा आत्मक
【द】 सहज ✔

Ques. 11 ईश्वर के अस्तित्व हेतु देकार्त प्रमाण प्रस्तुत करता है, इनमें से कौन सा नहीं है ?
A. समता मूलक प्रमाण
B. उद्देश्य मूलक प्रमाण
C. विश्व मूलक प्रमाण
D. स्थान मुलक प्रमाण ✔

Ques. 12 देकार्त ईश्वर के प्रत्यह का कारण स्वीकार करते हैं ?
A. आत्मा को
B. जङ {जगत} को
C. स्वयं ईश्वर को ✔
D. शरीर/ अचित को

Ques. 13 देकार्त के चार दार्शनिक नियमों में से नहीं ?
A. किसी चीज को तब तक सत्य नहीं मानना चाहिए जब तक उसका स्पष्ट एवं परिशिष्ट ज्ञान न हो जाय ।
B. समस्या का सरलतम टुकड़ों में विश्लेषण करना चाहिए ।
C. सबसे पहले समस्या के सरल एवं मूल तत्व को ध्यान करते हुए आगे बढ़ना चाहिए ।
D. निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले संकिर्ण परीक्षण आवश्यक है । ✔

प्र.14) सद्गुण ही ज्ञान है , यह कथन है ?
अ) देकार्ते
ब) प्लेटो
स) अरस्तु
द) सुकरात ✔

प्र.15) सुकरात के दर्शन का मूलमंत्र है ?
अ) अपने आप को देखो
ब) अपने आप को सुधारों
स) अपने आप को पहचानो ✔
द) ईश्वर में आस्था रको

प्रशन 16 सुकरात के युग को किस दशॆन से जाना जाता है।
(अ) रचनात्मक  ✔
(ब) संरचना
(स) दोनों
(द) इन में से कोई नहीं

प्रशन 17 ज्ञान ही सद्गुण है यह किस ने कहा।
(अ) सुकरात ✔
(ब) अरस्तु
(स) प्लेटी
(द) इन में से कोई नहीं

18. सुकरात की दार्शनिक पद्धति कहलाती हैं?
a. वार्तालाप पद्धति
b. धात्री विधि
c.प्रसाविक
d. उपयुक्त सभी ✔

19. आगमनात्मक पद्धति से तात्पर्य है?
a. सामान्य से विशेष का निष्कर्ष निकालना
b. विशेष से सामान्य का निष्कर्ष निकालना ✔
c. उपयुक्त दोनों
d. उपयुक्त में से कोई नही

20. देकार्त के दर्शन को निम्न में से किस श्रेणी में रखेंगे?
a. विशिष्ट वाद
b. विज्ञान वाद
c. अनुभव वाद
d. बुद्धि वाद ✔

21. देकार्त कितने प्रकार के जन्मजात प्रत्यय स्वीकार
करता है?
a. तीन ✔
b. चार
c. दो
d. पांच

22.सुकरात दर्शन का उद्देश्य क्र्या हैं?

(अ) तत्व ज्ञान की प्राप्ति ✔
(ब) सामान्य उद्देश्य
(स) गुणवत्ता
(द) सरल स्वभाव

23.सुकरात की दार्शनिक पद्धति कहलाती हैं?

(अ) वार्तालाप की पद्धति ✔
(ब) बातचीत
(स) मनुष्यता
(द) मरणशील

24.डेकार्ट का सम्बंध किससे माना गया है?

(अ) फ्रांस ✔
(ब) जापान
(स) इटली
(द) अमेरिका

प्रश्न=25- संकल्प की स्वतंत्रता निम्नलिखित में से किस में पाई जाती है?
【अ】 पशु में
【ब】 पक्षियों में
【स】 मनुष्य में
【द】 जलचरों में ✔

प्रश्न=26- दंड का कौन सा सिद्धांत अपराधी को मनोरोगी मानता है?
【अ】 प्रतिकारात्मक
【ब】 निरोधातन्मक
【स】सुधारात्मक ✔
【द】विरोधात्मक

प्रश्न=27-सङ्कल्प स्वतंत्रता नैतिकता का आधार हे-यह कथन हे?
【अ】सिजविक का
【ब】मरटीन्यू का
【स】डी ऑर्कि का ✔
【द】म्यूरहेड का

प्रश्न=28- कानपुर के अनुसार परमसुख पुण्य है लेकिन पूर्ण शुभ है?
【अ】पूण्य
【ब】आनन्द
【स】पूण्य एवम् आनन्द का योग ✔
【द】सुख एवम् आनन्द का योग

प्रश्न=29- कांट ने इनमें से किसके पूर्ण विनाश पर बल दिया?
【अ】संवेग
【ब】भावना ✔
【स】बुद्धि
【द】विचार

प्रश्न=30-कांट के नीतिशास्त्र को कहा जाता हे?
【अ】आत्म विरोधी
【ब】सुखवादी
【स】कठोरता वादी ✔
【द】विकासवादी

प्रश्न=31- कांट अपने नीतिशास्त्र में कुछ नैतिक सूत्रों की स्थापना की है तो इनमें से कौन सा नैतिक सूत्र उनका नहीं है?
【अ】 सार्वभौम नियम का सूत्र
【ब】 मानवता को साध्य समझो
【स】 अपने सुख के लिए कर्म करो ✔
【द】 साध्यो के साम्राज्य के सदस्य के रूप में कार्य करो

प्रश्न=32-कांट का नीतिशास्त्रीय विचार हे?
【अ】अंत अनुभववादि
【ब】अनुभववादी
【स】दार्शनिक अन्तः अनुभववादी ✔
【द】विकासवादी

प्रश्न=33-निकृष्ट सवार्थवादि सुखवाद के प्रवर्तक हे?
【अ】अरिष्टिपस ✔
【ब】सुकरात
【स】अरस्तु
【द】एपिक्युरस

प्रश्न=34- मनोवैज्ञानिक सुख वाद है?
【अ】 यथार्थ परक ✔
【ब】 आदर्श परक
【स】 नियामक
【द】 मूल्यपरक

प्रश्न=35- सुख ही प्रत्येक मनुष्य का प्राकृतिक तथा वास्तविक उद्देश्य है मनुष्य हमेशा सुख की खोज करता हे तथा दुख से दूर रहना चाहता है यह मत है?
【अ】 निकृष्ट सुख वाद का
【ब】 मनोवैज्ञानिक सुख वाद का ✔
【स】 नैतिक सुख वाद का
【द】 इनमें से कोई नहीं

प्रश्न=36- ईश्वर का प्रत्यय है?
【अ】 जन्मजात एवम् ईश्वर से प्राप्त✅
【ब】 जन्मजात परंतु ईश्वर से प्राप्त नहीं
【स】 स्वभाविक तथा पारंपरिक
【द】 अनुभव से प्राप्त

प्रश्न=37- ज्ञान मीमांसा क्षेत्र में बेकार है?
【अ】 समानांतर वादी
【ब】 प्रतिबिंम्ब वादी ✔
【स】 क्रिया प्रतिक्रियावादी
【द】 अर्थवादी

प्रश्न=38- डेकार्ट ने संदेह विधि का उपयोग किया हे?
【अ】 निश्चित ज्ञान प्राप्त करने के लिए
【ब】 संश्लेषणनात्मक ज्ञान प्राप्त करने के लिए
【स】 असंदिग्ध एवं सत्य ज्ञान प्राप्त करने के लिए ✔
【द】 विश्लेषणात्मक ज्ञान प्राप्त करने के लिए

प्रश्न=39-डेकार्ट के दार्शनिक पद्धति का वर्णन मिलता हे?
【अ】Bacon’s Essays में
【ब】Discourse on Method में ✔
【स】 The Ethics में
【द】Theodice में

 

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

लालशंकर पटेल डूंगरपुर, पुष्पेंद्र कुलदीप झुंझुनू, सुभाष शेरावत, सोमचन्द भाम्भू चूरु, प्रभुदयाल मूडं, चूरू, कोमल शर्मा, कैलाश गहलोत,  नेमीचंद चावला (टोंक)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *