मौलिक अवधारणाए प्रस्थिति तथा भूमिका प्रश्नोत्तरी | सामाजशास्त्र UNIT 2

0%
2

मौलिक अवधारणाए प्रस्थिति तथा भूमिका प्रश्नोत्तरी | सामाजशास्त्र UNIT 2

1 / 30

1. प्रदत्त प्रस्थिति

2 / 30

2. आयु के आधार पर प्रस्थिति का निर्धारण जैविक की बजाय सांस्कृतिक अधिक है कथन किसका है ?

3 / 30

3. द्वितीयक समूह विशेषीकृत होते हैं?

4 / 30

4. समाज के द्वारा मान्य भूमिका को कहते हैं

5 / 30

5. भूमिका निर्वाह के प्रतिपादक हैं

6 / 30

6. समाज में व्यक्ति को प्राप्त पद है?

7 / 30

7. ऑफिस, स्टेशन, स्तर की अवधारणा प्रतिपादित की ?

8 / 30

8. भर्ती भूमिकाओं की अवधारणा का प्रयोग किया?

9 / 30

9. किसने व्यक्ति को सामाजिक इकाई मानते हुए प्रस्थिती व भूमिकाओं का मिश्रित बंडल माना है ?

10 / 30

10. किसी विशिष्ट भूमिका के संबंध में समाज द्वारा अपेक्षित एवं इच्छित व्यवहारो अथवा प्रत्यूतरों के संपूर्ण पुंज को कहते हैं

11 / 30

11. प्रदत्त व अर्जित प्रस्थिति का विभाजन किसने किया ?

12 / 30

12. एक साथ कई भूमिकाओं में रुचि लेना और भाग लेना कहलाता है

13 / 30

13. प्रस्थिति एवं भूमिका का अवधारणात्मक स्तर पर सर्वप्रथम उल्लेख किया है ?

14 / 30

14. - प्रस्थिति अनियमितता के जनक हैं

15 / 30

15. सामाजिक व्यवस्था में किसी व्यक्ति को प्राप्त पद प्रस्थिति है जिसका संबंध समय व स्थान से है यह परिभाषा दी ?

16 / 30

16. ऑफिस, स्टेशन, स्तर की अवधारणा प्रतिपादित की ?

17 / 30

17. सोशल डिफरेशिएशन पुस्तक के लेखक हैं - ?

18 / 30

18. समाज एक वस्तु नहीं बल्कि संबंध स्थापित करने की एक प्रक्रिया है?

19 / 30

19. भारतीय संदर्भ में जाति उदाहरण है ?

20 / 30

20. एक व्यक्ति को प्राप्त सभी पदों से जुड़ी हुई सभी भूमिकाओं का योग कहलाता है

21 / 30

21. संस्थागत व्यवस्था में समाज द्वारा प्रदत्त पद प्रस्थिति है जिसकी उत्पत्ति स्वतः होती है तथा जिससे रितियां व रूढ़ियां जुड़े रहते हैं ?

22 / 30

22. समाजों के वर्गीकरण में पवित्र समाज का प्रयोग किसने किया?

23 / 30

23. जिन व्यक्तियों से नातेदारी की बाध्यता है यह आशा करती है कि इन्हें बराबरी का व्यवहार करना चाहिए वास्तव में ऐसे व्यक्तियों की अन्य क्षेत्रों में अत्यंत असंगत परिस्थितियां होती है उसे कहते हैं

24 / 30

24. मुख्य प्रस्थिति की अवधारणा प्रतिपादित की ?

25 / 30

25. डेविस के अनुसार व्यक्ति की अनेक प्रस्थिति का संग्रह कहलाता है

26 / 30

26. किसने सामाजिक पद को अधिकार व दायित्व में विभाजित किया है ?

27 / 30

27. किसी व्यक्ति की सगाई होने व शादी होने तक की बीच की स्थिति को कहते हैं

28 / 30

28. उत्तर औद्योगिक समाज की अवधारणा प्रस्तुत की?

29 / 30

29. परिस्थिति से जुड़ा मूल्य जिसे पाने के लिए विशेष योग्यता की जरूरत होती है कहलाता है ?

30 / 30

30. र्धुर्वीय परिस्थिति के जनक हैं

Your score is

The average score is 0%

0%

आप इस परीक्षा को 5 में से कितने सितारे देना चाहेंगे?
How many stars out of 5 would you like to give this exam?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *